Poem on Your Pillow Day
Nojoto
Nojoto

Expired

Poem on Your Pillow Day

Use #Poem29 Story

Challenge Over
  • Your Challenge
  • The Prize
  • T & C

Poetry is one of the oldest arts in the world, and on May 2nd Poem on Your Pillow Day sets out to start or finish your day with the magic of poetry. Make your friends start their day on the right foot by leaving them a short, sweet poem that you know they will love.

  • Top Stories
  • Latest Stories
  • Inspiration
  • Winner

#poem #2liner #TuesdayThoughts #faiziqbalsays #TST #Nojoto #Nojotohindi #kavishala #Love #Quotes #Poetry #SAD

99 Love

#poem #WednesWisdom #Nojoto #Challenge #Nojotohindi #poetry #TST
एक अजीब सी पहेली है जिंदगी,
एक अजीब सी पहेली है जिंदगी,
मुश्किल है इसे सम

61 Love

#Awarapan #Banjarapan #TerraceWalking #2liner #poem #TuesdayThoughts

55 Love

"महफील भी रोयेगी, हर दिल भी रोयेगा ङुबी जो मेरी कस्ती तो साहील भी रोयेगा हम इतना प्यार बीखेर देगे इस दुनीया मे की मौत पे मेरी मेरा कातील भी रोयेगा……"

महफील भी रोयेगी, हर दिल भी रोयेगा 
ङुबी जो मेरी कस्ती तो साहील भी रोयेगा 
हम इतना प्यार बीखेर देगे इस दुनीया मे 
की मौत पे मेरी 
मेरा कातील भी रोयेगा……

#Nojoto #Nojotohindi #hindipoetry #kavishala #Love #Quotes #Photography #poem

39 Love

"अपनी चाह और इच्छा कभी किसी की मोहताज नहीं होती... सिर्फ किस्मत के भरोसे सफलता किसी की सरताज नहीं होती ...... यह खेल खुदा का नहीं तेरी चाह का है ! तेरी मंजिल और तुझ में फासला बस एक राह का है .... जिस पर कदम तेरे बढ़ते जा रहे हैं ; और मंजिल से दूरी कम करते जा रहे हैं .... खिलाड़ी तू है और किस्मत है यह मैदान ! लकीरों के हारने से कभी ना होते हौसले बेजान... लकीरें भी तेरे हाथों में है जकड़ ले मुकद्दर मुट्ठी में इस कदर कि वह खुदा भी तेरे हौसलों के आगे झुक जाए .... Jeet खटखटाए तेरे दरवाजे और वह हार भी अपनी ही चौखट पर रुक जाए......"

अपनी चाह और इच्छा कभी किसी की मोहताज नहीं होती... सिर्फ किस्मत के भरोसे सफलता किसी की सरताज नहीं होती ......

यह खेल खुदा का नहीं तेरी चाह का है !
तेरी मंजिल और तुझ में फासला बस एक राह का है ....

जिस पर कदम तेरे बढ़ते जा रहे हैं ;
और मंजिल से दूरी कम करते जा रहे हैं ....

खिलाड़ी तू है और किस्मत है यह मैदान !
लकीरों के हारने से कभी ना होते हौसले बेजान...

लकीरें भी तेरे हाथों में है जकड़ ले मुकद्दर मुट्ठी में इस कदर कि वह खुदा भी तेरे हौसलों के आगे झुक जाए ....
Jeet खटखटाए तेरे दरवाजे और वह हार भी अपनी ही चौखट पर रुक जाए......

#poem #Nojoto #Motivation #nevergiveup #hardwork....sirf lakeero se nahi balki koshisho se vijay milegi!!!

37 Love