वो रात  | That Night
Nojoto
Nojoto

Expired

वो रात | That Night

Use #Night22 Story

Challenge Over
  • Your Challenge
  • The Prize
  • T & C

“Some nights are made for torture, or reflection, or the savoring of loneliness.” The Challenge is to Complete the line with a Quote or Poetry - In Hindi or English Use #Night in the Story

  • Top Stories
  • Latest Stories
  • Inspiration
  • Winner

"Afsos nhi hoga, jo tumhare saal me se.. 5 saal puraani wo bhyanak raat Gumnaam hui hai.. Nirbhaya Ko kyaa hi yaad rakhoge ?? Arre .. Yahaa to Draupadi se lekar Seeta tak.. Sab badnaam hui hain.. #16december "

Afsos nhi hoga, jo tumhare saal me se..
5 saal puraani wo bhyanak raat
Gumnaam hui hai..
Nirbhaya Ko kyaa hi yaad rakhoge ??
Arre ..
Yahaa to Draupadi se lekar Seeta tak..
Sab badnaam hui hain..
#16december

#nirbhaya #Night

104 Love

"वो रात भी क्या रात होगी? जब रात शांत मगर चॉंद खामोश नही, कैसे कहुंगा मै कि आज फिर होश नही इस तरह डूबा होउॉंगा तेरी मौहबबत की गहराजई मे, के हाथ मे जाम होगा मगर पीने का होश नही।"

वो रात भी क्या रात होगी?
जब रात शांत मगर चॉंद खामोश नही,
कैसे कहुंगा मै कि आज फिर होश नही
इस तरह डूबा होउॉंगा तेरी मौहबबत की गहराजई मे,
के हाथ मे जाम होगा मगर पीने का होश नही।

#Night Challenge Accepted

27 Love

"सारी रात जागता रहा मैं बस ये देखने को.. कि वो कौनसा वक़्त है जब वो रोज ख्वाबों में आती है!"

सारी रात जागता रहा मैं बस ये देखने को..
कि वो कौनसा वक़्त है जब वो रोज ख्वाबों में आती है!

#Night #challengeaccepted #Nojoto

18 Love

"तेरे जैसा हो रहा हूँ मैं, आधी रात में आधा दिन हो रहा हूँ मैं, वक्त कहता है, टूटा है तो हमारे साथ चल सुन, मैं भी टूटा था एक दिन, इसलिए आज तीन पैरों से चल रहा हूँ मैं, तेरे जैसा हो रहा हूँ मैं... तुम बोलो, जाना जरूरी है क्या ??!!"

तेरे जैसा हो रहा हूँ मैं,
आधी रात में आधा दिन हो रहा हूँ मैं,
वक्त कहता है, टूटा है तो हमारे साथ चल
सुन,
मैं भी टूटा था एक दिन,
 इसलिए आज तीन पैरों से चल रहा हूँ मैं,
    तेरे जैसा हो रहा हूँ मैं...
तुम बोलो,
जाना जरूरी है क्या ??!!

#Night #Time #Life #Love #randomequote

18 Love

"हर शाम जब कृष्णपक्षी चाँद को अपनी छटा कम करते देखता हूँ, हर शाम जब अमावास की वो रात पास आते देखता हूँ, हर शाम जब अंधेरा अपनी गिरहें बढ़ाता है, हर शाम जब सूरज डूबने को जाता है, हर शाम जब ठण्ड बढ़ती सी दिखती है, हर शाम जब हवाएँ ख़ुद से ही लड़ती हैं, हर शाम जब बाजारों में रौनक कम सजती है, तब लगता है, की ये ख़्वाब यहीं थमा रहे, और मैं, कभी तेरी जुल्फों को उलझने से सुलझने न दूँ, अपनी आँखों के पर्दों से कभी ख़्वाब गिरने न दूँ... हाँ, बस इतना सा, मेरा ख़्वाब।।"

हर शाम जब कृष्णपक्षी चाँद को अपनी छटा कम करते देखता हूँ,
हर शाम जब अमावास की वो रात
पास आते देखता हूँ,
हर शाम जब अंधेरा अपनी गिरहें बढ़ाता है,
हर शाम जब सूरज डूबने को जाता है,
हर शाम जब ठण्ड बढ़ती सी दिखती है,
हर शाम जब हवाएँ ख़ुद से ही लड़ती हैं,
हर शाम जब बाजारों में रौनक कम सजती है,
तब लगता है,
की ये ख़्वाब यहीं थमा रहे,
और
  मैं, 
कभी तेरी जुल्फों को उलझने से सुलझने न दूँ,
अपनी आँखों के पर्दों से कभी ख़्वाब गिरने न दूँ...
हाँ, बस इतना सा,
मेरा ख़्वाब।।

वो रात...
जहाँ, बस तुम हो।।

#Night #thatnight

16 Love