Search Results for: Ias Aspirant Ujjawal

  • All
  • People
  • Stories
  • Tags

Stories that match your search ...

More Results

"I am a Ias aspirant"

I am a Ias aspirant

 

4 Love

"IAS officer ना बन जाए #UPSC aspirant #IASbabu(DM)"

IAS officer ना बन जाए


#UPSC aspirant

#IASbabu(DM)

#IASbabu #IAS #Nojoto

7 Love

Best Shayari in Hindi #nojotovideo #MAIMS
Shweta Singh @Ias Aspirant Ujjawal @Ayushi Sharma

39 Love
609 Views

"अगर गाँधी जी ज़िंदा होते तो एक जान एक माटी एक भाषा एक देश एक देश मेरा देश तेरा देश भारत हमारा एक देश एक देश । 1 तू अलग मैं अलग जाति पाति है अलग अलग अलग अलग की एक परिभाषा एक देश एक देश । 2 भगत ही भगत हों , आज़ाद ही आज़ाद हों सुख के देव की है ये अभिलाषा एक देश एक देश । 3 अहिंसा बोल चल पड़ा सो सैकड़ो चल पड़े । बना महात्मा की है आत्मा एक देश एक देश ।। ©️✍️ सतिन्दर गाँधी जयन्ती की हार्दिक शुभकामनाएं🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳"

अगर गाँधी जी ज़िंदा होते तो एक जान एक माटी एक भाषा एक देश एक देश
मेरा देश तेरा देश भारत हमारा एक देश एक देश । 1
तू अलग मैं अलग जाति पाति है अलग अलग
अलग अलग  की एक परिभाषा एक देश एक देश । 2
भगत ही भगत हों , आज़ाद ही आज़ाद  हों
सुख के देव की है ये अभिलाषा एक देश एक देश । 3
अहिंसा बोल चल पड़ा सो सैकड़ो चल पड़े ।
बना महात्मा की है आत्मा एक देश एक देश ।।

©️✍️ सतिन्दर
गाँधी जयन्ती की हार्दिक शुभकामनाएं🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳

गाँधी जयंती
@Ias Aspirant Ujjawal @Ikhtiyar ahmed @Azin Irshad @Munfarid Gorakhpuri @Modified SONI..

10 Love

"इंसाँ हूँ ज़िन्दगी जो तुझे हँसता मिले दुआ है तुझे कोई फ़रिश्ता मिले । इक घर खड़ा है इन दो काँधों पर या रब मुझे ईश्क़ ज़रा सस्ता मिले । सारा जहाँ घूम लिया फिर भी वहीं चल वहाँ जहाँ वखरा रास्ता मिले । आम होने से डरता है ये पंछी आसमान को भी नया फ़ाख्ता मिले । चाँद ने रख्खी है रोशनी उधार की सूदखोर सुरज़ को सूद पुख्ता मिले । ज़ुबाँ से क्या मन्नतें करना ज़िन्दगी सच्चा ख़ुदा जब दिल पढ़ता मिले । होने दे कभी आसमान को सफ़ेद नज़्म से क़ागज़ काला होता मिले । चुस्कियाँ याद हैं वो आपको ज़िन्दगी काश कोई मेरे प्याले से लेता मिले । घंटा - घंटा कर अपनी फ़ुरसत बेच खायी हैरां न होना जो ग़रीब खर्चा करता मिले । एक एक कदम नज़रे झुका के रखना नज़ाकत का तहज़ीब से रिश्ता मिले । सिरहाने रख ली है तस्वीर राम की भाई कल को ये न मुझे कोसता मिले । बैठा है कोई फ़रिश्ता क्या महफ़िल में जो सतिन्दर से आहिस्ता आहिस्ता मिले । ©️✍️ सतिन्दर"

इंसाँ हूँ ज़िन्दगी जो तुझे हँसता मिले 
दुआ  है  तुझे  कोई  फ़रिश्ता  मिले । 
इक घर खड़ा है इन दो काँधों पर
या रब मुझे ईश्क़ ज़रा सस्ता मिले । 
सारा जहाँ घूम लिया फिर भी वहीं 
चल वहाँ जहाँ वखरा रास्ता मिले । 
आम होने से डरता है ये पंछी
आसमान को भी नया फ़ाख्ता मिले । 
चाँद ने रख्खी है रोशनी उधार की
सूदखोर सुरज़ को सूद पुख्ता मिले । 
ज़ुबाँ से क्या मन्नतें करना ज़िन्दगी
सच्चा ख़ुदा जब  दिल पढ़ता मिले । 
होने दे कभी आसमान को सफ़ेद
नज़्म से क़ागज़ काला होता मिले । 
चुस्कियाँ याद हैं वो आपको ज़िन्दगी
काश कोई मेरे प्याले से  लेता मिले । 
घंटा - घंटा कर अपनी फ़ुरसत बेच खायी
हैरां न होना जो ग़रीब खर्चा करता मिले । 
एक एक कदम नज़रे झुका के रखना
नज़ाकत का तहज़ीब से रिश्ता मिले । 
सिरहाने रख ली है तस्वीर राम की 
भाई कल को ये न मुझे कोसता मिले । 
बैठा है कोई फ़रिश्ता क्या महफ़िल में
जो सतिन्दर से आहिस्ता आहिस्ता मिले ।
©️✍️ सतिन्दर

नज़्म मिले
@Azin Irshad @Ikhtiyar ahmed @Ias Aspirant Ujjawal @Munfarid Gorakhpuri @Yasir Ahmed

2 Love