Search Results for: ankit shrivastav

  • All
  • People
  • Stories
  • Tags

Stories that match your search ...

More Results

Satyam Shrivastav's Stories in 2018
#Throwback2018

Satyam Shrivastav की कहानियाँ 2018 में
#लम्हें2018 #Nojoto2018

7 Love
286 Views

"धुन चाहे दुनिया में कितनी अलग अलग भाषाएँ हो जाएँ, लेकिन संगीत से अच्छी कोई भाषा नहीं हो सकती है, जिसे सब समझते हैं। सारी दुनिया की सबसे लोकप्रिय और प्रसिद्ध भाषा संगीत है। #world_music_dqy"

धुन चाहे दुनिया में कितनी अलग अलग
 भाषाएँ हो जाएँ, लेकिन संगीत
 से अच्छी कोई भाषा नहीं हो सकती है, जिसे सब समझते हैं।
सारी दुनिया की सबसे लोकप्रिय 
और प्रसिद्ध भाषा संगीत है।

#world_music_dqy

Follow more such stories on @Nojotoapp

#mridulshrivastav #Quotes #Motivation #inspirational #lifesaving #talentwrites #poem Follow more suc

21 Love

ankit ankit ankit ankit

10 Love

"सूखे फूल सूखे फूल गुजरे हुवे वक़्त का हिसाब देते हैं, गहरे रंग, प्यार की गहराई को बयाँ करते हैं, ताजे फूल गुलशन महकाते हैं, मोहब्बत को जवाँ रखते हैं, गवाह थे, ये हमारी मोहब्बत के, आज ये सूखे फूल मुरझाए रिश्ते की गवाही देते हैं। #$hivi"

सूखे फूल   सूखे फूल गुजरे हुवे वक़्त का हिसाब देते हैं,
गहरे रंग, प्यार की गहराई को बयाँ करते हैं,
ताजे फूल गुलशन महकाते हैं,
मोहब्बत को जवाँ रखते हैं,
गवाह थे, ये हमारी मोहब्बत के, 
आज ये सूखे फूल मुरझाए रिश्ते की गवाही देते हैं।
                            #$hivi

#SookhePhool



Gaurav Upadhyay 💔Chiwu💔 Syed Mudassar Ali Kazmi Suresh Barupal Aditya Shrivastav nitesh kumar Aman Singh Shayar Shivangi

75 Love

"गुरुर है मुझे की मै बचपन में ही अनाथ हो गई, सहारा दूसरो का लिया और मै जवान हो गयी, खाने पीने का खर्च नाना ने उठाया और मै एहसानो के तले दब गयी, फिर भी मै गुरुर करती हूँ, मै अपनी माँ के साथ बेफिक्र जिया करती हूँ, कुछ (fd)s हैं जो बैंक मे पडे हैं, मेरा तो उससे ही काम चल जायेगा, जरा खो कर देखो अपने, अपनो को, पैसो से जादा अपनो का मोल समझ आएगा, नही पता था मुझे, मेरी अमीरी का चर्चा बाजारो मे हो जायेगा, कितनी आसानी से पूछते हो, तुम्हे क्या दिक्कत है? अरे जरा तड़प कर देखो अपनो के लिये, तुम्हे तुम्हारा जवाब खुद मिल जायेगा, मुसाफिर हूँ मुस्कुरा कर जीती हूँ, सकारात्मकता की गठरी लाद कर चलती हूँ, जरुरी नही की गम-ए आसू बाहाती रहूँ, अतीत से जयादा मुस्तकबिल की परवाह करती हूँ, दिखा सकते हो मुझे मेरे पिता का चेहरा ? लौटा सकते हो मुझें मेरी बचपन की खुशियां ? किसी के जज्बातो से, क्या खेलूंगी मै, जब जिन्दगी ने मुझसे ही खिलवाड़ कर दिया, गलत फहमि का शिकार है वो, जिसने मुझें गुनाहगार कह दिया । #$hivi"

गुरुर है मुझे की मै बचपन में ही अनाथ हो गई,
सहारा दूसरो का लिया और मै जवान हो गयी,
खाने पीने का खर्च नाना ने उठाया 
और मै एहसानो के तले दब गयी,

फिर भी मै गुरुर करती हूँ,
मै अपनी माँ के साथ बेफिक्र जिया करती हूँ,
कुछ (fd)s हैं जो बैंक मे पडे हैं,
मेरा तो उससे ही काम चल जायेगा,
जरा खो कर देखो अपने, अपनो को,
पैसो से जादा अपनो का मोल समझ आएगा,

नही पता था मुझे, मेरी अमीरी का चर्चा बाजारो मे हो जायेगा,
कितनी आसानी से पूछते हो, तुम्हे क्या दिक्कत है?
अरे जरा तड़प कर देखो अपनो के लिये,
तुम्हे तुम्हारा जवाब खुद मिल जायेगा,

मुसाफिर हूँ मुस्कुरा कर जीती हूँ,
सकारात्मकता की गठरी लाद कर चलती हूँ,
जरुरी नही की गम-ए आसू बाहाती रहूँ,
अतीत  से जयादा मुस्तकबिल की परवाह करती हूँ,

दिखा सकते हो मुझे मेरे पिता का चेहरा ?
लौटा सकते हो मुझें मेरी बचपन की खुशियां ?
किसी के जज्बातो से, क्या खेलूंगी मै,
जब जिन्दगी ने मुझसे ही खिलवाड़ कर दिया,
गलत फहमि का  शिकार है वो, जिसने मुझें गुनाहगार कह दिया ।
             
                   #$hivi

#gurur obaid rehman Khurram Abbasi tamanna Soumitra SB Barman Sundram Kumar Shivam Kumar Dashing___Danish 🥰minaक्षी goyaल 🥰 Divya Aggarwal

51 Love
1 Share