Search Results for: shivani

  • All
  • People
  • Stories
  • Tags

Stories that match your search ...

More Results

shivani kaithwas(Vani)'s Stories in 2018
#Throwback2018

shivani kaithwas(Vani) की कहानियाँ 2018 में
#लम्हें2018 #Nojoto2018

8 Love
365 Views

"💝Indian army💝 Indian army कविता का कुछ हिस्सा 💝 soldiers की ज़ानिब से💝 निकला सूरज आसमान से, शाम उसे ढल जाना है। जिम्मेदारियां है कंधों पर, हमें उसे निभाना है।। कि देश पर मेरे खतरा आया, खतरे से लड़ जाना है। काट दुश्मन के शीश को, हमें देश को बचाना है ।। हमें देश को बचाना है।। रिश्ते नाते ठीक है। सब अपनी जगह रह जाते हैं।। जब बात देश की होती है। तो बच्चे भी लड़ जाते हैं।। तो बच्चे भी लड़ जाते हैं।। जब सोचा मैंने देश पर खुद को, हंसते-हंसते लुटाऊंगा। रास्ता पता नहीं था मुझे, मगर विश्वास था खुद पर, मंजिल तक पहुंच जाऊंगा ।। भूलाकर अपना सब कुछ, जो कुछ है देश के नाम कर जाऊंगा। एक शहादत मेरी होगी, देश के लिए मिट जाऊंगा ।। जानता हूं अपने पीछे, अपनों को में रुलाऊगा । मेरे प्यारे वतन तेरे लिए, यह भी हंसते हंसते कर जाऊंगा।। जब हुआ सिलेक्शन आर्मी में, मैंने खुद में जश्न मनाया था। सपना पूरा होते देख, मैंने खुद को जिंदा पाया था ।। उन्होंने मुझे इंसान नहीं सख्त पत्थर बनाया था । शरीर को मेरे चट्टान कर, दिल में वतन बसाया था।। खुद को भूलाकर, देश की सेवा करना सिखाया था। मेरे अंदर से उन्होंने, डर को मार भगाया था।। जितना बहाऊंगा पसीना, उतना खून बचा मैं पाऊंगा। अपने वतन के चेहरे से, खौफ हटा में जाऊंगा ।। बस यही सीख हरदम, हमें सिखाई जाती थी। दृढ़ता में शक्ति है, यही बात ट्रेनिंग में बताई जाती थी।। कि देश ही मेरी माता है। मेरा जीवित रहना, इसीका ऋण चुकता है।। अपने कर्तव्य को मैं, पूरी निष्ठा से निभाऊंगा। जब बात वतन की आएगी, तो मैं पीठ नही दिखाऊँगा।। हम मरते हैं देश के लिए, वतन सुरक्षित रह जाए। मेरी मां की कोख उजड़े, बाकी लाल जीवित रह जाए ।। बेशक मेरे मरने पर, बहन की राखी भी रो जाएगी। पर और भी भाई है जिनकी, कलाई पर ये डोरी बांधी जाएगी।। मेरी पत्नी के हाथों की, चूड़ियां तोड़ दी जाएगी। बची रहेगी सुहाग की ओढ़नी, दूसरी औरतें सुख से, करवाचौथ मनाएंगी।। मेरे बच्चे रोएंगे, और रो-रोकर मुझे बुलाएंगे। अपने आसपास मुझे ना पाकर, वो मासूम डर कर सेहम जाएंगे ।। ओढ़ कर तिरंगा में सोऊंगा, फिर तुम उठा ना पाओगे । देश की खातिर दिया बलिदान, बलिदान भुला तुम जाओगे।। ना दो गे प्यार मुझको, ना सम्मान दे पाओगे। मेरे बाद मेरे परिवार को, तुम ही लोग सताओगे।। एक विनती हाथ जोड़कर आज मैं तुमसे करता हूं। जो शाहिद हुआ तुम्हारी खातिर, मैं बात उनकी करता हूं।। जब हो बॉर्डर पर कोई शहीद, उसकी शहादत को सम्मान दो। उसके परिवार में हो जब भी कोई तकलीफ, अपनों की तरह तुम ध्यान दो । अपनों की तरह तुम ध्यान दो।। 💞जय हिंद जय भारत 💞 ❤भारत माता की जय❤ Shivani Hiya 💝A piece of heart💝"

💝Indian army💝

Indian army कविता का कुछ हिस्सा

💝 soldiers  की ज़ानिब से💝

निकला सूरज आसमान से,
 शाम उसे ढल जाना है।
 जिम्मेदारियां है कंधों पर,
 हमें उसे निभाना है।।

 कि देश पर मेरे खतरा आया,
 खतरे से लड़ जाना है।
काट दुश्मन के शीश को,
 हमें देश को बचाना है ।।
हमें देश को बचाना है।।

 रिश्ते नाते ठीक है।
सब अपनी जगह रह जाते हैं।। 
जब बात देश की होती है।
 तो बच्चे भी लड़ जाते हैं।।
तो बच्चे भी लड़ जाते हैं।।

 जब सोचा मैंने देश पर खुद को,
हंसते-हंसते लुटाऊंगा।
 रास्ता पता नहीं था मुझे,
मगर विश्वास था खुद पर, 
मंजिल तक पहुंच जाऊंगा ।।

भूलाकर अपना सब कुछ,
जो कुछ है देश के नाम कर जाऊंगा।
 एक शहादत मेरी होगी,
 देश के लिए मिट जाऊंगा ।।

जानता हूं अपने पीछे,
अपनों को में रुलाऊगा ।
मेरे प्यारे वतन तेरे लिए,
 यह भी हंसते हंसते कर जाऊंगा।।

 जब हुआ सिलेक्शन आर्मी में,
 मैंने खुद में जश्न मनाया था।
सपना पूरा होते देख,
मैंने खुद को जिंदा पाया था ।।

उन्होंने मुझे इंसान नहीं 
सख्त पत्थर बनाया था ।
शरीर को मेरे चट्टान कर, 
दिल में वतन बसाया था।।

 खुद को भूलाकर,
 देश की सेवा करना सिखाया था।
 मेरे अंदर से उन्होंने, 
डर को मार भगाया था।।

 जितना बहाऊंगा पसीना,
 उतना खून बचा मैं पाऊंगा।
 अपने वतन के चेहरे से,
 खौफ हटा में जाऊंगा ।।

बस यही सीख हरदम, 
हमें सिखाई जाती थी।
दृढ़ता में शक्ति है, 
यही  बात ट्रेनिंग में बताई जाती थी।।

कि देश ही मेरी माता है।
 मेरा जीवित रहना,
 इसीका ऋण चुकता है।।

अपने कर्तव्य को मैं,
 पूरी निष्ठा से निभाऊंगा।
जब बात वतन की आएगी,
 तो मैं पीठ नही दिखाऊँगा।।

 हम मरते हैं देश के लिए,
 वतन सुरक्षित रह जाए।
मेरी मां की कोख उजड़े,
बाकी लाल जीवित रह जाए ।।

बेशक मेरे मरने पर,
बहन की राखी भी रो जाएगी। 
पर और भी भाई है जिनकी,
 कलाई पर ये डोरी बांधी जाएगी।।

 मेरी पत्नी के हाथों की,
चूड़ियां तोड़ दी जाएगी।
बची रहेगी सुहाग की ओढ़नी,
 दूसरी औरतें सुख से,
 करवाचौथ मनाएंगी।।

 मेरे बच्चे रोएंगे,
और रो-रोकर मुझे बुलाएंगे।
अपने आसपास मुझे ना पाकर,
 वो मासूम डर कर सेहम जाएंगे ।।

ओढ़ कर तिरंगा में सोऊंगा,
 फिर तुम उठा ना पाओगे ।
देश की खातिर दिया बलिदान,
 बलिदान भुला तुम जाओगे।।

 ना दो गे प्यार मुझको,
 ना सम्मान दे पाओगे।
 मेरे बाद मेरे परिवार को,
 तुम ही लोग सताओगे।।

एक विनती हाथ जोड़कर
 आज मैं तुमसे करता हूं।
जो शाहिद हुआ तुम्हारी खातिर,
मैं बात उनकी करता हूं।।

जब हो बॉर्डर पर कोई शहीद, 
उसकी शहादत को सम्मान दो।
 उसके परिवार में हो जब भी कोई तकलीफ,
अपनों की तरह तुम ध्यान दो ।
अपनों की तरह तुम ध्यान दो।। 

   💞जय हिंद जय भारत 💞
    ❤भारत माता की जय❤

        Shivani Hiya
💝A piece of heart💝

💝Indian army💝

Indian army कविता का कुछ हिस्सा

💝 soldiers की ज़ानिब से💝

निकला सूरज आसमान से,
शाम उसे ढल जाना है।

3 Love

"मोहब्बत में दिवाने हो वफाएँ साथ रख लेना, हवा बेखौफ होती है दुआएंँ साथ रख लेना..."

मोहब्बत में दिवाने हो 
                      वफाएँ साथ रख लेना,

हवा बेखौफ होती है 
                        दुआएंँ साथ रख लेना...

जज्बात हमारे जिन्दा हैं...
#Nojotohindi #Nojoto #Love #Poetry #SAD
@Toneri Otsuktsuki @shivani.mourya @Shivani Singh Nargees Bano Haidarali (

124 Love
2 Share

"#Teri yaadain... Abhi abhi dil ko fuslaya hi tha ki .. darwaje pe kisi ne fir.. dastak di.. aahat sun kar dil fir sahp gya.. ki na jane ab kon aaya h???????.. tabhi sanson ne aawaz lagayi kon h????... wo bhi tujhsi hi thi...bewakk si.. khudgarz si .khamosh hi rahi teri yaadain.. pr badzat badi besarm thi.. jb darwaje se n gusne diya to khidki se andar aa gyi.... pochha dil ne kyu aayi h tun..fir se mujhe tabaha krne.. kahti h ..yaad hu m..aayi hu fir se tujhse ishq krne.. bola dil ne ...badi zalim h re tun.. kambakht dard behisaab deti h.. rahti h mere ghar me or mere hi sabra ka tun imtehaan leti h.. pochha dil ne ...tun har bar yun madmast hoke kyu chali aati h.. kya tujhe mere haal pe ab zara si bhi daya nhi aati h.. pr teri yaadain bhi to teri hi apni thi n .kahti h...ye hunar mujhe tadpane ka tujhse hi sikh kr aati h... fir har martba aakar ye mujhpe ak naya sitam kr jati h... kambakht ye yaadain bhi to teri hi h na.. kitna bhi samet lun inhe...kitna bhi samjhaun inhe ye mujhe takleef dene ke bahane dhondh hi leti h.. teri yaadain teri hi tarah bewaffa jo h..."

#Teri yaadain...

Abhi abhi dil ko fuslaya hi tha ki ..
darwaje pe kisi ne fir.. dastak di..
aahat sun kar dil fir sahp gya..
ki na jane ab kon aaya h???????..
tabhi sanson ne aawaz lagayi kon h????...
wo bhi tujhsi hi thi...bewakk si..
khudgarz si .khamosh hi rahi teri yaadain..
pr badzat badi besarm thi..
jb darwaje se n gusne diya to khidki se andar aa gyi....
pochha dil ne kyu aayi h tun..fir se mujhe tabaha krne..
kahti h ..yaad hu m..aayi hu fir se tujhse ishq krne..
bola dil ne ...badi zalim h re tun..
kambakht dard behisaab deti h..
rahti h mere ghar me or mere hi sabra ka tun imtehaan leti h..
pochha dil ne ...tun har bar yun madmast hoke kyu chali aati h..
kya tujhe mere haal pe ab zara si bhi daya nhi aati h..
pr teri yaadain bhi to teri hi apni thi n
.kahti h...ye hunar mujhe tadpane ka tujhse hi sikh kr aati h...
fir har martba aakar ye mujhpe ak naya sitam kr jati h...
kambakht ye yaadain bhi to teri hi h na..
kitna bhi samet lun inhe...kitna bhi samjhaun inhe ye mujhe 
takleef dene ke bahane dhondh hi leti h..
teri yaadain teri hi tarah bewaffa jo h...

#yaad...#teri yaadain h tujhsi hi...😒😒 @Zinii Khan @Shivani #0907# @jyøtī sëñ0827 @Shivani #0907# @Zinii Khan mr_writer

11 Love

#nojoto
#vaishali @Vaishali Katyal
#komal #Sarita #shivani #jaydeep
#preeti #Sameer #manisha #shivani
....
#Youtube #nojoto #channel

28 Love
155 Views