Thoughts
  • Popular Stories
  • Latest Stories

"मेरी ज़िन्दगी में हर दुख और दर्द के पन्ने फाड़ दिए तुमने और हर पन्ने पर अपने प्यार की मोहर लगा दी तुमने ❣️"

मेरी ज़िन्दगी में हर दुख और
   दर्द के पन्ने  फाड़  दिए 
    तुमने और हर पन्ने 
    पर अपने प्यार
      की मोहर 
       लगा दी
        तुमने
         ❣️

#nojotihindi #nojotolines #sushmathakur #nojotolife
#मोहर #दर्द #पन्ने #प्यार #nojotoquotes

142 Love

"ख्वाहिशें क्या आज करने लगीं । उठीं और परवाज़ करने लगीं । हमको जानते हैं अब कुछ लोग । जिक्रे यार से मेरी तहरीरें आवाज़ करने लगी । azeem khan"

ख्वाहिशें क्या आज करने लगीं ।

उठीं और परवाज़ करने लगीं ।

हमको जानते हैं अब कुछ लोग ।

जिक्रे यार से मेरी तहरीरें आवाज़ करने लगी ।

azeem khan

# मेरी तहरीरें #

113 Love

"एक तमन्ना थी कि जिन्दगी रंग बिरंगी हो, और दस्तूर देखिए जितने मिले गिरगिट ही मिले ।।"

एक तमन्ना थी कि 
जिन्दगी रंग बिरंगी हो,
और दस्तूर देखिए 
जितने मिले गिरगिट ही 
मिले ।।

#nojotohindi
LoVe YoU # Always urs #d @Kayyum rja 7690811321 (YouTuber) @Pratibha Tiwari(smile)🙂

95 Love

"kon hai vo jisne humme apna bana liya kon ha vo jisne hum jasi mushibaat ko gale laga liya 😍😍 padhte waqt phone chalane se kuch nhi hota ye kha ker aaj phir hummne apne kitaabo se gaali khaa liya 😜😜😁😁"

kon hai vo jisne humme 
apna bana liya
kon ha vo jisne hum jasi
 mushibaat ko gale laga liya
😍😍
padhte waqt phone chalane se 
kuch nhi hota 
ye kha ker aaj phir hummne 
apne kitaabo se gaali khaa liya 
😜😜😁😁

#Phone ne barbaad ker diya😂😂 Maurya 'Ashikm'..... @Waris ali siddiqui @Suresh Gulia @hm alam siddiqui @DiP@NsHu VeRm@ aamil Qureshi

86 Love

"ज़िन्दगी की किताब ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~ ज़िन्दगी की किताब से कितने पन्ने निकालू कोई गलती नहीं हैं फिर क्यों हर पेज पर मुझे मेरी ही गलती नजर आती है थक गई हूं समझाते समझाते खुद को की जो भी हुआ या जो हो रहा है उसमे मेरी गलती नहीं हैं फिर भी न जाने क्यों मुझे मेरी ही गलती नजर आती है ज़िन्दगी के हर एक पेज पर फ़ाड़ दिया मैने अपनी ज़िन्दगी की किताब को,,,,,,, सोच रही हूं कुछ अब अच्छा लिखूं अपनी ज़िन्दगी की किताब में फिर से सुरुवात करू अपनी ज़िन्दगी की और अबकी बार कोई गलती न करू एक दम साफ़ साफ़ लिखूं अपनी ज़िन्दगी की किताब को इतना साफ लिखूं की कोई गलती न नजर आए मुझको लिखूं लेख ऐसा की कोई शब्द न गलत हो पाए ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~"

ज़िन्दगी की किताब
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
ज़िन्दगी की किताब से कितने पन्ने निकालू कोई गलती नहीं
 हैं  फिर क्यों हर पेज  पर मुझे मेरी ही गलती नजर आती है

थक गई हूं समझाते समझाते खुद को की जो भी हुआ या जो 
हो रहा है उसमे मेरी गलती नहीं हैं फिर भी न जाने क्यों मुझे 
मेरी  ही गलती नजर आती  है  ज़िन्दगी के हर एक पेज पर

फ़ाड़ दिया मैने अपनी ज़िन्दगी की किताब को,,,,,,,

सोच रही हूं कुछ अब अच्छा लिखूं अपनी ज़िन्दगी की किताब में
फिर से सुरुवात करू अपनी ज़िन्दगी की और अबकी बार कोई गलती
 न करू एक दम साफ़ साफ़ लिखूं अपनी ज़िन्दगी की किताब को

इतना साफ लिखूं की कोई  गलती न नजर आए मुझको
लिखूं लेख ऐसा की कोई शब्द न गलत हो पाए
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

#Thoughts#nojotohindi#december#day 10#nojotohindipoetry

80 Love