Rainfall
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"बिता वक़्त, बिछड़ गया, मेरे हाथों से उसका हाथ... इश्क़ में मिलता ही कहाँ हैं, हमसफर से उम्रभर का साथ... बदल गया है वो वक़्त के साथ, या बदल गया वक़्त उसके साथ... ये अलग बात है मेरे ख्याल से, वक़्त और वो बदल गए एक साथ... ✍My_Words..."

बिता वक़्त, बिछड़ गया,
                        मेरे हाथों से उसका हाथ...

इश्क़ में मिलता ही कहाँ हैं,
                    हमसफर से उम्रभर का साथ...

बदल  गया है  वो  वक़्त के  साथ,
                  या बदल गया वक़्त उसके साथ...

ये अलग बात है  मेरे ख्याल से,
                वक़्त और वो बदल गए एक साथ...




✍My_Words...

मेरे ख़्याल से ...😐😐 #Life #philosophy #nojotohindi #Love #Relationships #QandA #nojotonews #feelings #Emotions #Trust

@aman6.1 @Mr. MANEESH @HOLOCAUST @sheetal pandya मेरे शब्द @MONIKA SINGH @Khushi jha

234 Love

""

"काश इश्क़ भी बारिश के जैसा होता, जो बिना किसी भेदभाव के सब पर बरसता..."

काश इश्क़ भी बारिश के जैसा होता,
जो बिना किसी भेदभाव के सब पर बरसता...

😊😊😊

230 Love
6 Share

""

"कुछ जरूरतें पूरी करने को वो दिनभर भागते हैं आँखों में ख़्वाहिशें लिए अब वो रात में भी जागते हैं - Swechha"

कुछ जरूरतें पूरी करने को वो दिनभर भागते हैं
आँखों में ख़्वाहिशें लिए अब वो रात में भी जागते हैं
- Swechha

आँखों में ख़्वाहिशें लिए अब वो रात में भी जागते हैं💌
#22Mar #Life #Night #alone

213 Love

""

"दिल मेरी नही सुनता अब वो अपनी ही धुन में मग्न रहता है मन अपनी ही दुनिया के सपने बुनने लगा है हर वक़्त तुम्हारे ही प्यार का ख़ुमार छाया रहता है हाँ अब वक़्त और हालात ने भी हार मान ली हमारे प्यार के आगे। वो भी कहने लगा कुदरत का नूर और प्रकृति की संजीदगी हमेशा एक दूसरे के पूरक है।"

दिल मेरी नही सुनता अब
वो अपनी ही धुन में मग्न रहता है
मन अपनी ही दुनिया के सपने बुनने लगा है
हर वक़्त तुम्हारे ही प्यार का ख़ुमार छाया रहता है
हाँ अब वक़्त और हालात ने भी हार मान ली 
हमारे प्यार के आगे।
वो भी कहने लगा कुदरत का नूर और
प्रकृति की संजीदगी हमेशा एक दूसरे 
के पूरक है।

#nojotohindi #nojotoquotes
#sushmathakur #nojotolines
#nojotofeelings #वक़्त #हालात

181 Love

""

"कौन कहता है रोना गलत है, मन की भावनाओँ यूँ बहाना गलत है, कभी-कभी तो ये कुदरत भी रोती है, तभी तो हसीन बरसात होती।"

कौन कहता है रोना गलत है,
मन की भावनाओँ यूँ बहाना 
गलत है,
कभी-कभी तो ये कुदरत 
भी रोती है,
तभी तो हसीन बरसात
होती।

 

166 Love