Love
  • Latest
  • Popular
  • Video

""

""तुम" "है कितना ये मुश्किल, तुझे कैसे समझाए !! करते है बेइंतहा प्यार तुझे, हम ये कैसे बतलाए !!!" "दिल की धड़कन हो तुम, बिन तेरे ना सांसों का साज़ हो। मैं संगीत की वाद्य यंत्र, तुम उसमे जुड़े तार हो।" "तुझसे मिलने की वो ख़ुशबू , बयार के हर कण में शुमार हो। पल- पल मन में छाए, सिर्फ तेरा ही खुमार हों।" "हर पल मेरे पास ना सही, पर मेरे ह्रदय में दिन-रात हों। तारत्व और तार से बने तुम, सुरीली धुन की बहार हो।" "मेरे इस अदने से दिल में, तुम बेहद विशाल हों। सच कह रहें !!! तुम मेरे दिल में, कभी होते ना बेख़्याल हों।" ©शिखा शर्मा"

"तुम"

"है कितना ये मुश्किल, तुझे कैसे समझाए !!
करते है बेइंतहा प्यार तुझे,
हम ये कैसे बतलाए !!!"

"दिल की धड़कन हो तुम,
बिन तेरे ना सांसों का साज़ हो।
मैं संगीत की वाद्य यंत्र, तुम उसमे जुड़े तार हो।"

"तुझसे मिलने की वो ख़ुशबू ,
बयार के हर कण में शुमार हो।
पल- पल मन में छाए, सिर्फ तेरा ही खुमार हों।"

"हर पल मेरे पास ना सही,
पर मेरे ह्रदय में दिन-रात हों।
तारत्व और तार से बने तुम, सुरीली धुन की बहार हो।"

"मेरे इस अदने से दिल में, तुम बेहद विशाल हों।
सच कह रहें !!! तुम मेरे दिल में,
कभी होते ना बेख़्याल हों।"

©शिखा शर्मा

#Love #Nojoto #nojotoLove #nojotohindi #nojotoenglish #poem #Shayari #Poetry #nojotopoetry #Pyar

10 Love

""

"गुजरे लम्हें, यादें उनकी, पुरानी हो रही है, ज़िन्दगी धीरे–धीरे अब कहानी हो रही है। –jivan kohli ✍️ ©खुले जहां के आजाद मुसाफ़िर"

गुजरे लम्हें, यादें उनकी, पुरानी हो रही है,
ज़िन्दगी धीरे–धीरे अब कहानी हो रही है।

                             –jivan kohli ✍️

©खुले जहां के आजाद मुसाफ़िर

#Love
#Nojoto
#nojotohindi
#Trending
dilo❤️ ki mallika Amita Tiwari Anshu writer VErMa S.R prashu pandey

37 Love
1 Share

""

"नजदीकियों से बहुत जाना तुम्हें अब दूरियों से पहचानना है। ©Sandhya"

नजदीकियों से बहुत जाना तुम्हें
अब दूरियों से पहचानना है।

©Sandhya

#Love

10 Love
1 Share

""

"এই মনটা আমার হলেও। এই মনের ভিতরে জায়গা টা শুধু তোমার ©P R I T I"

এই মনটা আমার হলেও।
এই মনের ভিতরে জায়গা টা শুধু তোমার

©P R I T I

#Love

2 Love

""

"बहुत ही खूबसूरत सा शमा है मैं भी चुप और वो बेजुबा है आंखें मिल चुकी थी जहां पर सासो ने भी साथ छोड़ा था वाहा पर बस यही तो जिंदगी की सबसे बड़ी सजा है हर शाम एक खूबसूरत सा शमा है ©Samrat Jaiswal"

बहुत ही खूबसूरत सा शमा है
मैं भी चुप और वो बेजुबा है 
आंखें मिल चुकी थी जहां पर
सासो ने भी साथ छोड़ा था वाहा पर
बस यही तो जिंदगी की सबसे बड़ी सजा है
हर शाम एक खूबसूरत सा शमा है

©Samrat  Jaiswal

#Love love

3 Love
1 Share