तूम दील की धड़कन मे रहते हो रहते हो
तूम दील की धड़

तूम दील की धड़कन मे रहते हो रहते हो तूम दील की धड़

तूम दील की धड़कन मे रहते हो रहते हो तूम दील की धड़कन मे रहते हो रहत हो धड़कन मे रहक मेरे दील की घन्टी बजाया करते हो #gif हरीश पाटीदार की शायरी. Also Read about .

1 Stories