मेरे चाँद को मेरे दर पर आए ज़माना हो गया है...
मिजा

मेरे चाँद को मेरे दर पर आए ज़माना हो गया है... मिजा

मेरे चाँद को मेरे दर पर आए ज़माना हो गया है... मिजाज़ उस चाँद का भी ज़रा मनमाना हो गया है.. मुझे नही रहती ख्वाईश अब आसमान में चाँद की.. क्योंकि चाँद में भी उसकी सूरत का आना जाना हो गया है. chand #chand #NojotoHindi #HindiPoetry #hindi #lovepoetry #zamana #lovequotes #poems #hindishayari. Also Read about .

1 Stories