• Latest Stories

"उसने पूछा कौन सा दर्द है, जो छुपाते हों, इतने रंज आे गम के साथ भी कैसे मुस्कुराते हो। पढ़े है हमने भी तुम्हारे कुछ शेर और कुछ ग़ज़ल, ग़ालिब बनने का शौक है या यूंही कलम चलाते हो।।"

उसने पूछा कौन सा दर्द है, जो छुपाते हों,
इतने रंज आे गम के साथ भी कैसे मुस्कुराते हो।

पढ़े है हमने भी तुम्हारे कुछ शेर और कुछ ग़ज़ल,
ग़ालिब बनने का शौक है या यूंही कलम चलाते हो।।

" अक्सर हमें इस प्रश्न का सामना करना पड़ जाता है।जवाब तो है नहीं तो शेर ही लिख दिया।। 😂😂
#nojotohindi #nojotoofficial #kalakaksh #TST #satyaprem sir #Nojotovoice

20 Love

"ऐ नसीब़!! अब तो इन दिक्कतों से रिहा कर दे। खुशी जोड़ खुद में या फिर इन सांसों से द़गा कर दे। उम्मीद लगा रखी हैं मैने तेरे बदलने की तुझसे, अब ज़िंदगी बदल या फिर मौत को मेरा सगा कर दे।।"

ऐ नसीब़!! अब तो इन दिक्कतों से रिहा कर दे।
खुशी जोड़ खुद में या फिर इन सांसों से द़गा कर दे। 
उम्मीद लगा रखी हैं मैने तेरे बदलने की तुझसे,
अब ज़िंदगी बदल या फिर मौत को मेरा सगा कर दे।।

"ऐ नसीब़" #Poetry #Quote #nojotohindi #nojotoofficial #kalakaksh #TST #satyaprem sir #Life #nojotoquotes #feelings

68 Love