बेजान सी मोहब्बत को जान दे बैठी।
ना मुकम्मल होने व

बेजान सी मोहब्बत को जान दे बैठी। ना मुकम्मल होने व

बेजान सी मोहब्बत को जान दे बैठी। ना मुकम्मल होने वाली, मोहब्बत को मुकाम दे बैठी। सात जन्मों का न सही, इस जन्म का अपना सारा प्यार दे बैठी। खता मुझसे बस इतनी हुई, ना जाने क्यू बेपन्हा मोहब्बत की, यह आखिरी सवाल कर बैठी। । अर्पिता पारीक । #gif #loveisnomore#majormissing#❤. Also Read about .

1 Stories