आज फिर महफ़िल में दर्द दिखा कर आये हैं..
अपनी कुसूर

आज फिर महफ़िल में दर्द दिखा कर आये हैं.. अपनी कुसूर

आज फिर महफ़िल में दर्द दिखा कर आये हैं.. अपनी कुसूरवार निगाहों को भीगा कर आये हैं.. इतराओ मत हमारी दीवानगी का हवाला देकर अब.. तुम्हारी यादों औऱ तस्वीरों को आग लगा कर आये हैं.. खुदा से रूठे बैठे थे गुस्ताख़ी तुम्हारी थी सब.. आज मुद्दतों बाद सिर झुका कर सजदा कर आये हैं.. तुम्हारें ख़तों में था भरा इतना झूठ और फरेब.. गुनाह माफ़ हो इसलिए उन्हें गंगा में बहा कर आये हैं.. वो ज़रा बेख़बर थे और बहुत खुश थे शायद.. हम उनको उनकी सारी गलतियां गिना कर आये हैं.. फँसे थे तूफ़ान में बेचैनियों और तनहाइयों के.. अब इस तूफ़ान को उनकी तरफ़ घुमा कर आये हैं.. kar aaye hai #NojotoHindi #betrayal #heartbreak #dillagi #ashiqui #lovepoetry #lovequotes #love #heartbreak. Also Read about .

1 Stories