*जाने क्यों आती है याद तुम्हारी,
चुरा ले जाती है आ

*जाने क्यों आती है याद तुम्हारी, चुरा ले जाती है आ

*जाने क्यों आती है याद तुम्हारी, चुरा ले जाती है आँखों से नींद हमारी.* *अब यही ख्याल रहता है सुबह शाम कब होगी तुमसे मुलाकात हमारी.* #gif. Also Read about .

1 Stories