Ek ladki ko dekha quotes
  • Popular Stories
  • Latest Stories

"जब फुरसत मिले चाँद से मेरे दर्द की कहानी पूछ लेना, सिर्फ एक वो ही है मेरा हमराज तेरे जाने के बाद।"

जब फुरसत मिले चाँद से मेरे दर्द की कहानी पूछ लेना,
सिर्फ एक वो ही है मेरा हमराज तेरे जाने के बाद।

 

390 Love
9 Share

"तेरे इश्क में सहे हमने जाने कितने सितम फिर भी मुस्कुराके सब सहते रहे ए सनम। खता कुछ हमी से हुई होगी जो खफ़ा है वो वरना बेवफ़ा तो नही होता वो मेरा हमदम। जन्म जन्मों का रिश्ता एक पल में गंवाया, न वफा तुम निभा सके, न निभा सके हम। इश्क़ में मजबूरियाँ तोड़ देती है दिल को , दिल टूटने वाले फिर रोज मनाते हैं मातम। न लगाना 'स्नेहा'किसी पे टूटे दिल का इल्जाम, अब मुस्कुरा के लगाना है हर ज़ख्म पे मरहम।"

तेरे इश्क में सहे हमने जाने कितने सितम
फिर भी मुस्कुराके सब सहते रहे ए सनम।

खता कुछ हमी से हुई होगी जो खफ़ा है वो
वरना बेवफ़ा तो नही होता वो मेरा हमदम।

जन्म जन्मों का रिश्ता एक पल में गंवाया,
न वफा तुम निभा सके, न निभा सके हम।

इश्क़ में मजबूरियाँ तोड़ देती है दिल को ,
दिल टूटने वाले फिर रोज मनाते हैं मातम।

न लगाना 'स्नेहा'किसी पे टूटे दिल का इल्जाम,
अब मुस्कुरा के लगाना है हर ज़ख्म पे मरहम।

#स्नेहा_अग्रवाल
#मैं अनबूझ पहेली

238 Love
8 Share

"मैं कायल हुँ , बस दर्द की और तू क्यूँ मुस्कुराना चाहती हैं मैं प्रेमी हुँ , बन्द पिंजरों की तू आसमान घुमाना चाहती हैं मुझे गम नहीं , गम के होने का क्योंकि खुश रहना मैंने सीखा ही नहीं फिर क्यूँ इन तंग गलियों में इक नई जगह बनाना चाहती हैं बता-ए-जिंदगी , क्यूँ इतना मुझे तू सताती हैं क्या तू फिर से मुझे , खुद से मिलाना चाहती हैं मैं वाकिफ केवल खुद से हुँ , तू नई पहचान बताना चाहती हैं मैं गुम हुँ , कहीं अंधेरों में , तू क्यूँ प्रकाश दिखाना चाहती हैं खामोश रहना पसंद हैं मुझे जो बोलना कभी सीखा ही नहीं फिर क्यूँ इस पत्थर को तू अब हीरा बनाना चाहती हैं बता-ए-जिंदगी , क्यूँ इतना मुझे तू सताती हैं क्या तू फिर से मुझे , खुद से मिलाना चाहती हैं -कनक लखेसर✍️"

मैं कायल हुँ , बस दर्द की 
और तू क्यूँ मुस्कुराना चाहती हैं
मैं प्रेमी हुँ , बन्द पिंजरों की
तू आसमान घुमाना चाहती हैं
मुझे गम नहीं , गम के होने का
क्योंकि खुश रहना मैंने सीखा ही नहीं
फिर क्यूँ इन तंग गलियों में
इक नई जगह बनाना चाहती हैं
बता-ए-जिंदगी , क्यूँ इतना मुझे तू सताती हैं
क्या तू फिर से मुझे , खुद से मिलाना चाहती हैं
मैं वाकिफ केवल खुद से हुँ , 
तू नई पहचान बताना चाहती हैं
मैं गुम हुँ , कहीं अंधेरों में ,
तू क्यूँ प्रकाश दिखाना चाहती हैं
खामोश रहना पसंद हैं मुझे
जो बोलना कभी सीखा ही नहीं
फिर क्यूँ इस पत्थर को 
तू अब हीरा बनाना चाहती हैं
बता-ए-जिंदगी , क्यूँ इतना मुझे तू सताती हैं
क्या तू फिर से मुझे , खुद से मिलाना चाहती हैं
-कनक लखेसर✍️

कभी कभी हम इतना टूट जाते है कि फिर से संभलना अच्छा नहीं लगता ।💔💔🖤🖤




#Nojoto
#nojotonews#nojotohindi#kanak#Kalamse#Quotes #Poetry #Shayari #poem #Stories #Funny #erotica#मेरेअल्फाज़ #Music#विचार #कविता #कहानी #शायरी #हास्य #कला #संगीत#कॉमेडी#Hobby
#Love #Happiness #Heart #Life #Broken

129 Love
9 Share

"तो फिर हुआ यूं कि उसने भी हमारे बिना जीना सीख लिया, जिसका हमसे बात किए बिना दिल नहीं लगता था!!"

तो फिर हुआ यूं कि
 उसने भी हमारे बिना जीना सीख लिया, जिसका हमसे बात किए बिना दिल नहीं लगता था!!

 

125 Love

"Kbhi to apni julfo ka mujhpe saya kar Ye dil tera hi ghr h kbhi to aaya jaya kar Aur kyu tune itne hizab pahne h Kbhi to chand ko bhi apna noor dikhya kar Udas loat jati h har bar aakar barish Meharbani krke kbhi to khudko bhigaya kar Berang rhe jate h humare sare mousam Kbhi kisi mousam me to milne aaya kar Tu zamane ki reet rivazo me dabi rhi Kbhi to laharo ki tarha ubhar kr aaya kar Vese to tu bahut khubsurat h fir bhi Kbhi to khudko Rihan ke liye sajaya kar. ...#R_7"

Kbhi to apni julfo ka mujhpe saya kar 
Ye dil tera hi ghr h kbhi to aaya jaya kar 
Aur kyu tune itne hizab pahne h 
Kbhi to chand ko bhi apna noor dikhya kar 
Udas loat jati h har bar aakar barish 
Meharbani krke kbhi to khudko bhigaya kar
Berang rhe jate h humare sare mousam 
Kbhi kisi mousam me to milne aaya kar 
Tu zamane ki reet rivazo me dabi rhi
Kbhi to laharo ki tarha ubhar kr aaya kar 
Vese to tu bahut khubsurat h fir bhi 
Kbhi to khudko Rihan ke liye sajaya kar. ...#R_7

@Huma Khan @Waqas Usmani (chocolatey_hero) @saba rooh @Vijay Shrivastav @Gori

102 Love