Rose
  • Popular Stories
  • Latest Stories

"Muhabbat to pakeeza thi Jaise khilte hue gulab p chamakti sabnam ki boonde Muhabbat to pakeeza thi Palne mein baithe us bache ki muskurahat si Mohabbat to pakeeza thi Jaise chamkti ret p parti chand ki chandni Mohabbat to pakeeza thi jaise Ugte hue aftab ki pahli kiran #continue...... #composed by arifa"

Muhabbat to pakeeza thi
Jaise khilte hue gulab p chamakti sabnam ki boonde
Muhabbat to pakeeza thi
Palne mein baithe us bache ki muskurahat si
 Mohabbat to pakeeza thi
Jaise chamkti ret p parti chand ki chandni
Mohabbat to pakeeza thi jaise
Ugte hue aftab ki pahli kiran
#continue......
#composed by arifa

#foreverlasting#forlove

238 Love
1 Share

"खुली किताब सी है जिन्दगी, कोई राज़ मत समझना, इश्क़ में मिले हर नायाब तोहफे को ताज़ मत समझना। लब चुप- चुप से हैं, आँखें भी भीगी -भीगी सी हैं सनम, खोई हुई हूँ ख़्वाबों की दुनियाँ में नाराज़ मत समझना। लेटी हुई हूँ तेरी यादों की चादर से लिपटकर मैं इस तरह, तुम खूबसूरत मकबरे में सोई हुई मुमताज़ मत समझना। जो रूठ जाऊँ महोब्बत में तो आकर के मना लेना तुम, रूठने की अदा को तुम बेवफाई का अंदाज़ मत समझना। हूँ दूर तुमसे हो करके मजबूर कितनी ये तुम नहीं समझते, 'स्नेहा' की दूरीयों को तुम बेवफाई का आग़ाज़ मत समझना।"

खुली किताब सी है जिन्दगी, कोई राज़ मत समझना,
इश्क़ में मिले हर नायाब तोहफे को ताज़ मत समझना।

लब चुप- चुप से हैं, आँखें भी भीगी -भीगी सी हैं सनम,
खोई हुई हूँ ख़्वाबों की दुनियाँ में नाराज़ मत समझना।

लेटी हुई हूँ तेरी यादों की चादर से लिपटकर मैं इस तरह,
तुम खूबसूरत मकबरे में सोई हुई मुमताज़ मत समझना।

जो रूठ जाऊँ महोब्बत में तो आकर के मना लेना तुम,
रूठने की अदा को तुम बेवफाई का अंदाज़ मत समझना।

हूँ दूर तुमसे हो करके मजबूर कितनी ये तुम नहीं समझते,  
 'स्नेहा' की दूरीयों को तुम बेवफाई का आग़ाज़ मत समझना।

#स्नेहा_अग्रवाल

231 Love
3 Share

"Muhabbat to pakeeza thi Jaise khilte hue gulab p chamakti sabnam ki boonde Muhabbat to pakeeza thi Palne mein baithe us bache ki muskurahat si Mohabbat to pakeeza thi Jaise chamkti ret p parti chand ki chandni Mohabbat to pakeeza thi jaise Ugte hue aftab ki pahli kiran #continue...... #composed by arifa"

Muhabbat to pakeeza thi
Jaise khilte hue gulab p chamakti sabnam ki boonde
Muhabbat to pakeeza thi
Palne mein baithe us bache ki muskurahat si
 Mohabbat to pakeeza thi
Jaise chamkti ret p parti chand ki chandni
Mohabbat to pakeeza thi jaise
Ugte hue aftab ki pahli kiran
#continue......
#composed by arifa

#foreverlasting#forlove

194 Love

"Muhabbat to pakeeza thi Jaise khilte hue gulab p chamakti sabnam ki boonde Muhabbat to pakeeza thi Palne mein baithe us bache ki muskurahat si Mohabbat to pakeeza thi Jaise chamkti ret p parti chand ki chandni Mohabbat to pakeeza thi jaise Ugte hue aftab ki pahli kiran #continue...... #composed by arifa"

Muhabbat to pakeeza thi
Jaise khilte hue gulab p chamakti sabnam ki boonde
Muhabbat to pakeeza thi
Palne mein baithe us bache ki muskurahat si
 Mohabbat to pakeeza thi
Jaise chamkti ret p parti chand ki chandni
Mohabbat to pakeeza thi jaise
Ugte hue aftab ki pahli kiran
#continue......
#composed by arifa

#foreverlasting#forlove

183 Love
2 Share

"वजह क्या है जो मैं तुम्हें चुन रहा हूं एक तेरा ही अब ख़्वाब मैं बुन रहा हूं है ये तेरा असर या मुझे है मर्ज कोई जो कहा भी नहीं तुमने वो सुन रहा हूं"

वजह क्या है जो मैं तुम्हें चुन रहा हूं
एक तेरा ही अब ख़्वाब मैं बुन रहा हूं
है ये तेरा असर या मुझे है मर्ज कोई
जो कहा भी नहीं तुमने वो सुन रहा हूं

tumhe chun rha hu mai by-Sir ji
#Sirji#Poetry#Love#gazal#Shayari#nojotonews#SAD#SADness#poem#nojotohindi

170 Love
1 Share