लगता है आजकल मुझको कि कुछ कुछ तुम उदास रहते हों ब | हिंदी Life Experie

"लगता है आजकल मुझको कि कुछ कुछ तुम उदास रहते हों बता दो ना क्या है परेशानी जो किसी से नहीं कहते हों । कभी कभी कोशिश करती हूं पूछने की कि किस मिट्टी के बनें हों और कैसे खुद इतना सब कुछ आसानी से सहते हों ।। - विनीत तोमर"

लगता है आजकल मुझको कि कुछ कुछ तुम उदास रहते हों 
बता दो ना क्या है परेशानी जो किसी से नहीं कहते हों ।
कभी कभी कोशिश करती हूं पूछने की कि किस मिट्टी के बनें हों
और कैसे खुद इतना सब कुछ आसानी से सहते हों ।।
- विनीत तोमर

लगता है आजकल मुझको कि कुछ कुछ तुम उदास रहते हों बता दो ना क्या है परेशानी जो किसी से नहीं कहते हों । कभी कभी कोशिश करती हूं पूछने की कि किस मिट्टी के बनें हों और कैसे खुद इतना सब कुछ आसानी से सहते हों ।। - विनीत तोमर

लगता है आजकल मुझको कि कुछ कुछ तुम उदास रहते हों
बता दो ना क्या है परेशानी जो किसी से नहीं कहते हों ।
कभी कभी कोशिश करती हूं पूछने की कि किस मिट्टी के बनें हों
और कैसे खुद इतना सब कुछ आसानी से सहते हों ।। #ehsash #Heart #Emotional #SAD #Life #Reality

People who shared love close

More like this