आना न मिरी क़ब्र पे हमराह-ए-रक़ीबाँ मुर्दे को मुसल

"आना न मिरी क़ब्र पे हमराह-ए-रक़ीबाँ मुर्दे को मुसलमाँ के जलाया नहीं करते"

आना न मिरी क़ब्र पे हमराह-ए-रक़ीबाँ
मुर्दे को मुसलमाँ के जलाया नहीं करते

आना न मिरी क़ब्र पे हमराह-ए-रक़ीबाँ मुर्दे को मुसलमाँ के जलाया नहीं करते

People who shared love close

More like this