बंधनो से घिरे हैं हर रिश्ते, सब अपने ताले लेकर घूम | हिंदी शायरी

"बंधनो से घिरे हैं हर रिश्ते, सब अपने ताले लेकर घूम रहे हैं। मत करो दिलसे बात यहां सब अहेमो गम के किवाड़ खोले बैठे है। -chintan shastri"

बंधनो से घिरे हैं हर रिश्ते,
सब अपने ताले लेकर घूम रहे हैं। 
मत करो दिलसे बात यहां सब
अहेमो गम के किवाड़ खोले बैठे है।

-chintan shastri

बंधनो से घिरे हैं हर रिश्ते, सब अपने ताले लेकर घूम रहे हैं। मत करो दिलसे बात यहां सब अहेमो गम के किवाड़ खोले बैठे है। -chintan shastri

बंधनो से घिरे हैं हर रिश्ते,
सब अपने ताले लेकर घूम रहे हैं। मत करो दिलसे बात यहां सब अहेम ओ गम के किवाड़ खोले बैठे है।

-chintan shastri

#shabdbindu

People who shared love close

More like this