(इतना क्यों सोचती है) इतना क्यों सोचती है जो बातें | हिंदी बात

"(इतना क्यों सोचती है) इतना क्यों सोचती है जो बातें दिल में ही नही उनको क्यो नोचती है. प्यार किया है तो ऐतबार कर,मेरे दिल में तेरे सिवा कोई और होगा ऐसा आईना क्यों देखती है. चाहत का सफ़र तेरी आँखों में ही शुरू हुआ तेरे ही कदमों में ख़त्म होगा,मेरी मोहब्बत पे बता शक की रेत क्यों फेंकती है. बात ना होती कभी तुझसे मजबूरियों में, इस बात को मेरी जान बेवफ़ाई से क्यों तोलती है. कभी मेरी आँखों में उतर के देख,तस्वीर तेरी हरपल अमन की आँखों में तेरे ही रंग घोलती है. कभी सुन ना मेरे दिल की आवाज़,हर धड़कन की फ्रंट सीट पे तेरी ही याद दौड़ती है. माना के है मुझे आदत शायरी की,उठा के देख मेरी क़लम को ये लिखते लिखते तेरा ही नाम बोलती है। कैसे दूर हो जाऊंगा तुझसे,मेरे जिस्म में तेरे ही नाम की रूह आँख खोलती है।"

(इतना क्यों सोचती है)
इतना क्यों सोचती है जो बातें दिल में ही नही उनको क्यो नोचती है.
प्यार किया है तो ऐतबार कर,मेरे दिल में तेरे सिवा कोई और होगा ऐसा आईना क्यों देखती है.
चाहत का सफ़र तेरी आँखों में ही शुरू हुआ तेरे ही कदमों में ख़त्म होगा,मेरी मोहब्बत पे बता शक की रेत क्यों फेंकती है.
बात ना होती कभी तुझसे मजबूरियों में, इस बात को मेरी जान बेवफ़ाई से क्यों तोलती है.
कभी मेरी आँखों में उतर के देख,तस्वीर तेरी हरपल अमन की आँखों में तेरे ही रंग घोलती है.
कभी सुन ना मेरे दिल की आवाज़,हर धड़कन की फ्रंट सीट पे तेरी ही याद दौड़ती है.
माना के है मुझे आदत शायरी की,उठा के देख मेरी क़लम को ये लिखते लिखते तेरा ही नाम बोलती है।
कैसे दूर हो जाऊंगा तुझसे,मेरे जिस्म में तेरे ही नाम की रूह आँख खोलती है।

(इतना क्यों सोचती है) इतना क्यों सोचती है जो बातें दिल में ही नही उनको क्यो नोचती है. प्यार किया है तो ऐतबार कर,मेरे दिल में तेरे सिवा कोई और होगा ऐसा आईना क्यों देखती है. चाहत का सफ़र तेरी आँखों में ही शुरू हुआ तेरे ही कदमों में ख़त्म होगा,मेरी मोहब्बत पे बता शक की रेत क्यों फेंकती है. बात ना होती कभी तुझसे मजबूरियों में, इस बात को मेरी जान बेवफ़ाई से क्यों तोलती है. कभी मेरी आँखों में उतर के देख,तस्वीर तेरी हरपल अमन की आँखों में तेरे ही रंग घोलती है. कभी सुन ना मेरे दिल की आवाज़,हर धड़कन की फ्रंट सीट पे तेरी ही याद दौड़ती है. माना के है मुझे आदत शायरी की,उठा के देख मेरी क़लम को ये लिखते लिखते तेरा ही नाम बोलती है। कैसे दूर हो जाऊंगा तुझसे,मेरे जिस्म में तेरे ही नाम की रूह आँख खोलती है।

जो girls अपने नेक honest bf पे बिना बात शक करती है ये उनके लिए❤️🌹✍️Follow more such stories on @Nojotoapp
#writersofinstagram #writeraofindia #Shayaris #Poetry #Quote #wordporn #qotd #igwriters #Nojoto #nojotoapp #wordgasm #wordporn #indianwriters #poetsofindia #Stories #storytelling #Quoteoftheday #writersofindia #Poetrycommunity #igpoets #wordsofwisdom #Love #Thoughts #igwriterclub
#SUMAN# @Bhupinder Kaur @varsha swaroop @NQ Priyanka @Ruchika @Niharika

People who shared love close

More like this