न बदली वक्त 🕰️ की गर्दिश न जमाना बदला, जब सूख गई प | हिंदी शायरी

"न बदली वक्त 🕰️ की गर्दिश न जमाना बदला, जब सूख गई पेड़ की डाली 🍂 तो परिंदों ने ठिकाना 🕊️ बदला।"

न बदली वक्त 🕰️ की गर्दिश न जमाना बदला, जब सूख गई पेड़ की डाली 🍂 तो परिंदों ने ठिकाना 🕊️ बदला।

न बदली वक्त 🕰️ की गर्दिश न जमाना बदला, जब सूख गई पेड़ की डाली 🍂 तो परिंदों ने ठिकाना 🕊️ बदला।

#Stories #Quotes

People who shared love close

More like this