जुदाई के अश्कों से लफ्ज़ बनाकर, लिखा था जो खत हमन | हिंदी Shayari

"जुदाई के अश्कों से लफ्ज़ बनाकर, लिखा था जो खत हमने सालों पहले। आज भी वह कागज 'शायरी बेगम', कुछ नम सा मालूम होता है। 📝📮😢 ©Ojaswi Sharma"

जुदाई के अश्कों से लफ्ज़ बनाकर, 
लिखा था जो खत हमने सालों पहले। 
आज भी वह कागज 'शायरी बेगम', 
कुछ नम सा मालूम होता है। 
📝📮😢

©Ojaswi Sharma

जुदाई के अश्कों से लफ्ज़ बनाकर, लिखा था जो खत हमने सालों पहले। आज भी वह कागज 'शायरी बेगम', कुछ नम सा मालूम होता है। 📝📮😢 ©Ojaswi Sharma

Moist #Shayari #ojaswisharma #Shayaribegum #nojoto

#MomentOfTime

People who shared love close

More like this