ढ़ोंगी दुनिया ढ़ोंगी यहाँ के लोग बातें इनकी बड़ी - ब | हिंदी शायरी

"ढ़ोंगी दुनिया ढ़ोंगी यहाँ के लोग बातें इनकी बड़ी - बड़ी , होता इनसे ना कुछ जात प्रेत में माने , छोटी इनकी सोच ishaqzaade"

ढ़ोंगी दुनिया ढ़ोंगी यहाँ के लोग

बातें इनकी बड़ी - बड़ी , होता इनसे ना कुछ

जात प्रेत में माने ,   छोटी इनकी सोच 

ishaqzaade

ढ़ोंगी दुनिया ढ़ोंगी यहाँ के लोग बातें इनकी बड़ी - बड़ी , होता इनसे ना कुछ जात प्रेत में माने , छोटी इनकी सोच ishaqzaade

People who shared love close

More like this