एक रोटी कम सही पर ईमान की खाते है, सूखी ही सही पर सीना तान के खाते...

एक रोटी कम सही पर ईमान की खाते है,
सूखी ही सही पर सीना तान के खाते है,
गद्दारों की भांति न मजहब बाँटते है,
खुद की मेहनत से पैसा कमाते है,
इस कड़क धुप में पशीने से नहाते है,
तब हम मूँछ तानकर किसान कहलाते है,
वही खुदगर्जी वही गुरूर न मरने से घबराते है,
माता-माता सब कहते ही रह जाते है,
हम अपनी माता को दिन रात पूरी लगन 
से सँवारते है।।(Happy Mother's Day)

 #NojotoQuote

एक रोटी कम सही पर ईमान की खाते है, सूखी ही सही पर सीना तान के खाते है, गद्दारों की भांति न मजहब बाँटते है, खुद की मेहनत से पैसा कमाते है, इस कड़क धुप में पशीने से नहाते है, तब हम मूँछ तानकर किसान कहलाते है, वही खुदगर्जी वही गुरूर न मरने से घबराते है, माता-माता सब कहते ही रह जाते है, हम अपनी माता को दिन रात पूरी लगन से सँवारते है।।(Happy Mother's Day) #NojotoQuote

#Nojoto#Happy#Mother's# Day#.......

People who shared love close

More like this