याद आते है वो स्याही से रंगें हाथ..... क्या दिन थे

"याद आते है वो स्याही से रंगें हाथ..... क्या दिन थे वो जब करते थे लंच दोस्तों के साथ.... आज भी जब कॉलेज के दोस्त मिल जाते हैं...... तो दिल में जवानी के फूल खिल जाते हैं......"

याद आते है वो स्याही से रंगें हाथ.....
क्या दिन थे वो जब करते थे लंच दोस्तों के साथ....
आज भी जब कॉलेज के दोस्त मिल जाते हैं......
तो दिल में जवानी के फूल खिल जाते हैं......

याद आते है वो स्याही से रंगें हाथ..... क्या दिन थे वो जब करते थे लंच दोस्तों के साथ.... आज भी जब कॉलेज के दोस्त मिल जाते हैं...... तो दिल में जवानी के फूल खिल जाते हैं......

People who shared love close

More like this