मुख़ातिब होकर भी तेरा दीदार न कर सके हम न जाने वो किस कर्म का सिला ...

मुख़ातिब होकर भी तेरा दीदार न कर सके हम
न जाने वो किस कर्म का सिला था मेरा..!

मुख़ातिब होकर भी तेरा दीदार न कर सके हम न जाने वो किस कर्म का सिला था मेरा..!

#nojoto #love #meeting

People who shared love close

More like this