गमों की बारात लेकर आ गया तेरी यादों का कारवां कैसा | हिंदी Shayari

"गमों की बारात लेकर आ गया तेरी यादों का कारवां कैसा त्यौहार लेकर आ गया. ढूंढती थी जिस चाँद में मेरा चेहरा करवाचौथ पे तुम,उस चाँद में आज मुझे तेरा चेहरा नज़र आ गया. औरों ने तो खायें होंगे लज़ीज़ पकवान आज,तोड़ के व्रत मेरी तो भूख तेरा चेहरा ही मिटा गया. तुझसे जुदा होने का दर्द आज आंखों से बाहर आ गया जम के की बारिश प्यास सारी दिल की बुझा गया।"

गमों की बारात लेकर आ गया तेरी यादों का कारवां कैसा त्यौहार लेकर आ गया.
ढूंढती थी जिस चाँद में मेरा चेहरा करवाचौथ पे तुम,उस चाँद में आज मुझे तेरा चेहरा नज़र आ गया.
औरों ने तो खायें होंगे लज़ीज़ पकवान आज,तोड़ के व्रत मेरी तो भूख तेरा चेहरा ही मिटा गया.
तुझसे जुदा होने का दर्द आज आंखों से बाहर आ गया जम के की बारिश प्यास सारी दिल की बुझा गया।

गमों की बारात लेकर आ गया तेरी यादों का कारवां कैसा त्यौहार लेकर आ गया. ढूंढती थी जिस चाँद में मेरा चेहरा करवाचौथ पे तुम,उस चाँद में आज मुझे तेरा चेहरा नज़र आ गया. औरों ने तो खायें होंगे लज़ीज़ पकवान आज,तोड़ के व्रत मेरी तो भूख तेरा चेहरा ही मिटा गया. तुझसे जुदा होने का दर्द आज आंखों से बाहर आ गया जम के की बारिश प्यास सारी दिल की बुझा गया।

दिल का दर्द बिन बात का कर्ज🌙


❤️✍️6.1aman


Follow more such stories on @Nojotoapp
#writersofinstagram #writeraofindia #Shayaris #Poetry #Quote #wordporn #qotd #igwriters #Nojoto #nojotoapp #wordgasm #wordporn #indianwriters #poetsofindia #Stories #storytelling #Quoteoftheday #writersofindia #Poetrycommunity #igpoets #wordsofwisdom #Love #Thoughts #igwriterclub

People who shared love close

More like this