कितने आये कितने गए ज़िन्दगी के ज़ख़्म सांसों के दरिया | हिंदी Quotes

"कितने आये कितने गए ज़िन्दगी के ज़ख़्म सांसों के दरिया में बहते रहे. बहते बहते दर्द की लहरें उठती रही गमगीन सा हो गया पानी का रंग. निशाने दिल पे लगते रहे,जुदाई के रंग आंखों से बहते रहे"

कितने आये कितने गए ज़िन्दगी के ज़ख़्म सांसों के दरिया में बहते रहे.
बहते बहते दर्द की लहरें उठती रही गमगीन सा हो गया पानी का रंग.
निशाने दिल पे लगते रहे,जुदाई के रंग आंखों से बहते रहे

कितने आये कितने गए ज़िन्दगी के ज़ख़्म सांसों के दरिया में बहते रहे. बहते बहते दर्द की लहरें उठती रही गमगीन सा हो गया पानी का रंग. निशाने दिल पे लगते रहे,जुदाई के रंग आंखों से बहते रहे

Follow more such stories on @Nojotoapp
#writersofinstagram #writeraofindia #shayaris #Poetry #Quote #wordporn #qotd #igwriters #Nojoto #nojotoapp #wordgasm #wordporn #indianwriters #poetsofindia #Stories #storytelling #Quoteoftheday #writersofindia #Poetrycommunity #igpoets #wordsofwisdom #Love #Thoughts #igwriterclub @insha Merry @Jaanvee Gurjar @Sheetal Dessai @shivani @Rinky Kala (R*) @divya Pandey

People who shared love close

More like this