मुसल्सल कोशिशे कायम है हमे भुलाने की ; यकीं मानों | हिंदी शायरी और ग़ज़ल

"मुसल्सल कोशिशे कायम है हमे भुलाने की ; यकीं मानों हरपल मुकम्मल याद आऊंगा मैं!! ©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)"

 मुसल्सल कोशिशे कायम है हमे भुलाने की ;
यकीं मानों हरपल मुकम्मल याद आऊंगा मैं!!

©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)

मुसल्सल कोशिशे कायम है हमे भुलाने की ; यकीं मानों हरपल मुकम्मल याद आऊंगा मैं!! ©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)

मुसल्सल कोशिशे कायम है हमे भुलाने की ;
यकीं मानों हरपल मुकम्मल याद आऊंगा मैं!!
#dedicated
#कृष्णेत #krishnet #जज्बात

People who shared love close

More like this

Trending Topic