तहज़ीब से पेश आओ हम उस कुल के जिसमें प्यार और निभा | हिंदी शायरी

"तहज़ीब से पेश आओ हम उस कुल के जिसमें प्यार और निभानी यारी सिखाने आये स्वयं मोहन चक्रधारी! फकत हमें गुमां इस बात पर कि हम उस वंश के अंश जिसके महज़ 114 पड़े 1700 चाइनीज दुश्मनों पे भारी !! #जय_हिन्द 🇮🇳🇮🇳 #अहीर_शौर्य_दिवस"

तहज़ीब से पेश आओ हम उस कुल के जिसमें प्यार और निभानी यारी सिखाने आये स्वयं मोहन चक्रधारी!

फकत हमें गुमां इस बात पर कि हम उस वंश के अंश जिसके महज़ 114 पड़े 1700 चाइनीज दुश्मनों पे भारी !!

         #जय_हिन्द 🇮🇳🇮🇳
         #अहीर_शौर्य_दिवस

तहज़ीब से पेश आओ हम उस कुल के जिसमें प्यार और निभानी यारी सिखाने आये स्वयं मोहन चक्रधारी! फकत हमें गुमां इस बात पर कि हम उस वंश के अंश जिसके महज़ 114 पड़े 1700 चाइनीज दुश्मनों पे भारी !! #जय_हिन्द 🇮🇳🇮🇳 #अहीर_शौर्य_दिवस

#जयहिंद 🇮🇳🇮🇳🇮🇳
#अहीररेजिमेंट
#अहीरशौर्यदिवस
#nojoto
#Yadav
#Yaduvanshi

People who shared love close

More like this