उन्होंने कत्लेआम मचा रक्खा है,चिलमन के हुनर से.... | हिंदी Shayari

"उन्होंने कत्लेआम मचा रक्खा है,चिलमन के हुनर से.... और कहते हैं कि हमको, उर्दू नही आती...."

उन्होंने कत्लेआम मचा रक्खा है,चिलमन के हुनर से....
और कहते हैं कि हमको, उर्दू नही आती....

उन्होंने कत्लेआम मचा रक्खा है,चिलमन के हुनर से.... और कहते हैं कि हमको, उर्दू नही आती....

उन्होंने कत्लेआम मचा रक्खा है,चिलमन के हुनर से.. @Sachin Ahir @Dev maurya @Khalid Waseem @Rahul Bhaskare @Pratibha Tiwari(smile)🙂 #mukeshguptaquotes #Lovequote #Love #Shayari #bestshayari

People who shared love close

More like this