नभ के हिय में लगा घाव ही मेघ है | आँसुओं सा मेरा भ

"नभ के हिय में लगा घाव ही मेघ है | आँसुओं सा मेरा भाव ही मेघ है | 'अश्रु' बूँदें गिरीं तो ये बारिश हुई, मेरे नयनों का ठहराव ही मेघ है || कवि शिवम् सिंह सिसौदिया 'अश्रु'"

नभ के हिय में लगा घाव ही मेघ है |
आँसुओं सा मेरा भाव ही मेघ है |
'अश्रु' बूँदें गिरीं तो ये बारिश हुई,
मेरे नयनों का ठहराव ही मेघ है ||

कवि शिवम् सिंह सिसौदिया 'अश्रु'

नभ के हिय में लगा घाव ही मेघ है | आँसुओं सा मेरा भाव ही मेघ है | 'अश्रु' बूँदें गिरीं तो ये बारिश हुई, मेरे नयनों का ठहराव ही मेघ है || कवि शिवम् सिंह सिसौदिया 'अश्रु'

नभ के हिय में लगा घाव ही मेघ है |
आँसुओं सा मेरा भाव ही मेघ है |
'अश्रु' बूँदें गिरीं तो ये बारिश हुई,
मेरे नयनों का ठहराव ही मेघ है ||

कवि शिवम् सिंह सिसौदिया 'अश्रु'

People who shared love close

More like this