अगर तुम ये सोचते हो कि तुम्हारे लहू का ही रंग लाल | हिंदी कविता

"अगर तुम ये सोचते हो कि तुम्हारे लहू का ही रंग लाल है जरा देखो वतन की शरहदों को कितने वीरों ने अपने लहू से सींचा है इसे। अगर तुम ये सोचते हो कि ये आवो हवा तुम्हारी कमाई से है। जरा देखो वीर सेनिकों की आँखों में कितनी ही रातें गवाई है वतन की तैनाती में। अगर तुम ये सोचते हो कि पगार बोने से ही तुम को भोजन से भरी थाली मलती है। जरा देखो हर उस जमीं को जहाँ दफन हुई या जली है चिताऐं शहीदों की। तुम ये कहते हो कि भगत,सुभाष,आजाद,राजगुरू अब है कहाँ। जरा देखो दुश्मन की गोलियों से उधड़े फौजियों के शरीर को जो बयां कर देगी उनकी वीरता की कहानी। हाँ याद कर लो उन शहीदों को जिन्होंने वतन की खातिर अपनी जॉन दी और दुआ करो उनकी सलामती की जो आज भी दटे है वतन पर अपनी जाँ लुटाने के लिऐ। पारुल शर्मा #gif"

अगर तुम ये सोचते हो कि तुम्हारे लहू का ही रंग लाल है
जरा देखो वतन की शरहदों को कितने वीरों ने अपने लहू से सींचा है इसे।
अगर तुम ये सोचते हो कि ये आवो हवा तुम्हारी कमाई से है।
जरा देखो वीर सेनिकों की आँखों में कितनी ही रातें गवाई है वतन की तैनाती में।
अगर तुम ये सोचते हो कि पगार बोने से ही तुम को भोजन से भरी थाली मलती है।
जरा देखो हर उस जमीं को जहाँ दफन हुई या जली है चिताऐं शहीदों की।
तुम ये कहते हो कि भगत,सुभाष,आजाद,राजगुरू अब है कहाँ।
जरा देखो दुश्मन की गोलियों से उधड़े फौजियों के शरीर को जो बयां कर देगी उनकी वीरता की कहानी।
हाँ याद कर लो उन शहीदों को जिन्होंने वतन की खातिर अपनी जॉन दी 
और दुआ करो उनकी सलामती की जो आज भी दटे है वतन पर अपनी जाँ लुटाने के लिऐ।
पारुल शर्मा #gif

अगर तुम ये सोचते हो कि तुम्हारे लहू का ही रंग लाल है जरा देखो वतन की शरहदों को कितने वीरों ने अपने लहू से सींचा है इसे। अगर तुम ये सोचते हो कि ये आवो हवा तुम्हारी कमाई से है। जरा देखो वीर सेनिकों की आँखों में कितनी ही रातें गवाई है वतन की तैनाती में। अगर तुम ये सोचते हो कि पगार बोने से ही तुम को भोजन से भरी थाली मलती है। जरा देखो हर उस जमीं को जहाँ दफन हुई या जली है चिताऐं शहीदों की। तुम ये कहते हो कि भगत,सुभाष,आजाद,राजगुरू अब है कहाँ। जरा देखो दुश्मन की गोलियों से उधड़े फौजियों के शरीर को जो बयां कर देगी उनकी वीरता की कहानी। हाँ याद कर लो उन शहीदों को जिन्होंने वतन की खातिर अपनी जॉन दी और दुआ करो उनकी सलामती की जो आज भी दटे है वतन पर अपनी जाँ लुटाने के लिऐ। पारुल शर्मा #gif

#happyrepublicday
अगर तुम ये सोचते हो कि तुम्हारे लहू का ही रंग लाल है
जरा देखो वतन की शरहदों को कितने वीरों ने अपने लहू से सींचा है इसे।
अगर तुम ये सोचते हो कि ये आवो हवा तुम्हारी कमाई से है।
जरा देखो वीर सेनिकों की आँखों में कितनी ही रातें गवाई है वतन की तैनाती में।
अगर तुम ये सोचते हो कि पगार बोने से ही तुम को भोजन से भरी थाली मलती है।
जरा देखो हर उस जमीं को जहाँ दफन हुई या जली है चिताऐं शहीदों की।
तुम ये कहते हो कि भगत,सुभाष,आजाद,राजगुरू अब है कहाँ।
जरा देखो दुश्मन की गोलियों से उधड़े फौजियों के शरीर को जो बयां कर देगी उनकी वीरता की कहानी।
हाँ याद कर लो उन शहीदों को जिन्होंने वतन की खातिर अपनी जॉन दी
और दुआ करो उनकी सलामती की जो आज भी दटे है वतन पर अपनी जाँ लुटाने के लिऐ।
पारुल शर्मा
#Nojotohindi#Nojoto#Nojotoquotes#Nojotoofficial#hindi#Shayari#hindipoetry#Poetry#sher#हिन्दीकविता#शेर#शायर#कविता#रचना#h#kavishala#hindipoet#TST#kalakash#Faiziqbalsay#Motivation#kavi#kavishala#kavi#देश #वतन#हिदुस्तान#भारत#सैनिक #फौजी#देशभक्ति#शहीद
#कवि#Life#notojohind#शायर#कवि#Life#जीवन
#इश्क #मोहब्बत #प्यार #Love

People who shared love close

More like this