कोई इश्क़ में बिछड़ने को गम-ए-जुदाई समझता है किसी क | हिंदी Shayari

"कोई इश्क़ में बिछड़ने को गम-ए-जुदाई समझता है किसी को दिल से याद करना भी लगता पहाड़ है.. | -साबिर बख़्शी"

कोई इश्क़ में बिछड़ने को गम-ए-जुदाई समझता है 
किसी को दिल से याद करना भी लगता पहाड़ है.. |

  -साबिर बख़्शी

कोई इश्क़ में बिछड़ने को गम-ए-जुदाई समझता है किसी को दिल से याद करना भी लगता पहाड़ है.. | -साबिर बख़्शी

अधूरी मोहब्बत #Shayari #2liner #sadpoetry #yaadein #judaaii #lovequotes @तरूण.कोली.विष्ट @अद्विका(Meri diary mere ehsaas ) @Fateh Chauhan @Bina Babi @Deepika Dubey

People who shared love close

More like this