दिल हार गए हम"

""दिल हार गए हम" उनका दीदार हुआ जो पहली दफ़ा, भूल बातें हज़ार गए हम, नज़र गयी जो उस हँसते चेहरे पर, पहली ही बार में दिल हार गए हम। माना, माना कुसूर उनका नहीं था हमारे इस हाल का, पर मिली जो उनकी नज़रें हमारी नज़रों से, खुशी से उड़ते चले सातों आसमान पार गए हम क्या करें हुज़ूर, उनकी आँखों में चमक थी ही इतनी, कि पहली दफ़ा में ही दिल हार गए हम| करने को उनसे दोस्ती, करने को उनसे बात, अपनी हर हद के पार गए हम, बढ़ाया जो दोस्ती का हाथ उन्होंने हाथ मिलाने से पहले ही दिल हार गए हम। पहली और आख़री लड़की थी वो, जिनके सपने देखते सौ हज़ार बार गए हम, हक़ीक़त में जब सामने आ खड़ी हुई वो, कुछ बोलने से पहले ही दिल हार गए हम। हुआ ख़ुदा मेहरबाँ कुछ इस तरह, की किसी कविता के एक ही सार जौसे एक दूजे को करते प्यार गए हम, मेरी फ़िक्र करने की जो आदत थी उनकी, बस उस आदत पर दिल हार गए हम...... पर क्या पता था हमें ,की गुस्सा करने की आदत में, उनको ठेस पहुंचाते बार बार गए हम, किसी और को पसंद ना कर लें वो इस गलत फहमी में, हँसती खेलती ज़िन्दगी को उनकी करते दुशवार गए हम.... मेरी इस ग़लत आदत से तंग आकर, उनके ख़ास से बिल्कुल हो बेकार गए हम.... रोते-मुस्कुराते हमेशा के लिए छोड़ चली गयी हमें वो अब, जाने के इस अंदाज़ पर भी, दिल हार गए हम....."

"दिल हार गए हम"
                                        उनका दीदार हुआ जो पहली दफ़ा,
                                        भूल बातें हज़ार गए हम,
                                        नज़र गयी जो उस हँसते चेहरे पर,
                                        पहली ही बार में दिल हार गए हम।  
                                                                                   माना, माना कुसूर उनका नहीं था हमारे इस हाल का,
                                                                                   पर मिली जो उनकी नज़रें हमारी नज़रों से, 
                                                                                    खुशी से उड़ते चले सातों आसमान पार गए हम
                                                                                   क्या करें हुज़ूर, उनकी आँखों में चमक थी ही इतनी,
                                                                                    कि पहली दफ़ा में ही दिल हार गए हम|  
 करने को उनसे दोस्ती, करने को उनसे बात,                                                                                                                                                                                         अपनी  हर  हद  के  पार  गए  हम,
  बढ़ाया  जो  दोस्ती  का  हाथ  उन्होंने
 हाथ मिलाने से पहले ही दिल हार गए हम।
                                                                                    पहली और आख़री लड़की थी वो,
                                                                                    जिनके सपने देखते सौ हज़ार बार गए हम,
                                                                                    हक़ीक़त में जब सामने आ खड़ी हुई वो,
                                                                                   कुछ बोलने से पहले ही दिल हार गए हम। 
      हुआ ख़ुदा मेहरबाँ कुछ इस तरह, 
      की किसी कविता के एक ही सार जौसे एक दूजे को करते प्यार गए हम,
     मेरी फ़िक्र करने की जो आदत थी उनकी,
     बस उस आदत पर दिल हार गए हम......
                                                                                           पर क्या पता था हमें ,की गुस्सा करने की आदत में,
                                                                                            उनको ठेस पहुंचाते बार बार गए हम,
                                                                                           किसी और को पसंद ना कर लें वो इस गलत फहमी में,
                                                                                           हँसती खेलती ज़िन्दगी को उनकी करते दुशवार गए हम.... 
                                                मेरी इस ग़लत आदत से तंग आकर,
                                              उनके ख़ास से बिल्कुल हो बेकार गए हम....
                                              रोते-मुस्कुराते हमेशा के लिए छोड़ चली गयी हमें वो अब,
                                                     जाने के इस अंदाज़ पर भी,
                                                           दिल हार गए हम.....

"दिल हार गए हम" उनका दीदार हुआ जो पहली दफ़ा, भूल बातें हज़ार गए हम, नज़र गयी जो उस हँसते चेहरे पर, पहली ही बार में दिल हार गए हम। माना, माना कुसूर उनका नहीं था हमारे इस हाल का, पर मिली जो उनकी नज़रें हमारी नज़रों से, खुशी से उड़ते चले सातों आसमान पार गए हम क्या करें हुज़ूर, उनकी आँखों में चमक थी ही इतनी, कि पहली दफ़ा में ही दिल हार गए हम| करने को उनसे दोस्ती, करने को उनसे बात, अपनी हर हद के पार गए हम, बढ़ाया जो दोस्ती का हाथ उन्होंने हाथ मिलाने से पहले ही दिल हार गए हम। पहली और आख़री लड़की थी वो, जिनके सपने देखते सौ हज़ार बार गए हम, हक़ीक़त में जब सामने आ खड़ी हुई वो, कुछ बोलने से पहले ही दिल हार गए हम। हुआ ख़ुदा मेहरबाँ कुछ इस तरह, की किसी कविता के एक ही सार जौसे एक दूजे को करते प्यार गए हम, मेरी फ़िक्र करने की जो आदत थी उनकी, बस उस आदत पर दिल हार गए हम...... पर क्या पता था हमें ,की गुस्सा करने की आदत में, उनको ठेस पहुंचाते बार बार गए हम, किसी और को पसंद ना कर लें वो इस गलत फहमी में, हँसती खेलती ज़िन्दगी को उनकी करते दुशवार गए हम.... मेरी इस ग़लत आदत से तंग आकर, उनके ख़ास से बिल्कुल हो बेकार गए हम.... रोते-मुस्कुराते हमेशा के लिए छोड़ चली गयी हमें वो अब, जाने के इस अंदाज़ पर भी, दिल हार गए हम.....

दिल हार गए हम❤️
#Hindi #nojotohindi #Popular #latest #HeartBreak #noforever #Love #Dream #

People who shared love close

More like this