उसकी भीगी ज़ुल्फ़ों में - कुछ बूंदे इस कदर बदनाम है। | हिंदी Shayari

"उसकी भीगी ज़ुल्फ़ों में - कुछ बूंदे इस कदर बदनाम है। हवा का रुख ग़र बदल गया - तो मानो कत्लेआम है। विकास शर्मा "विचित्र""

उसकी भीगी ज़ुल्फ़ों में - कुछ बूंदे इस कदर बदनाम है।
हवा का रुख  ग़र बदल गया - तो मानो कत्लेआम है।
विकास शर्मा "विचित्र"

उसकी भीगी ज़ुल्फ़ों में - कुछ बूंदे इस कदर बदनाम है। हवा का रुख ग़र बदल गया - तो मानो कत्लेआम है। विकास शर्मा "विचित्र"

#nojoto_gwalior.....#विचित्र_..#nojoto_शायरी...#nojotoशेर...#🆚_विचित्र_की_क़लम_से✍️

People who shared love close

More like this