ये मज़हब की दीवार है, इसमें ना इंसानियत है ना अपन | हिंदी Quotes

"ये मज़हब की दीवार है, इसमें ना इंसानियत है ना अपनों का प्यार है।"

ये मज़हब की दीवार है,
इसमें ना इंसानियत है 
ना अपनों का प्यार है।