आसमान सें कंहो हम गगन चूमने आ रहे हे,, पींजरे | हिंदी शायरी

"आसमान सें कंहो हम गगन चूमने आ रहे हे,, पींजरे वाली ने हमे उसकें दिल सें हमे आजाद कर दिया sanju panwar"

आसमान सें 
कंहो 
  हम गगन चूमने 
आ रहे हे,,
पींजरे वाली ने
 हमे 
  उसकें दिल सें 
हमे 
आजाद कर दिया
sanju panwar

आसमान सें कंहो हम गगन चूमने आ रहे हे,, पींजरे वाली ने हमे उसकें दिल सें हमे आजाद कर दिया sanju panwar

#Freedom

People who shared love close

More like this