एक सितम तेरे और एक दिल था कहीं, यादें धुल गईं ,पर | हिंदी शायरी

"एक सितम तेरे और एक दिल था कहीं, यादें धुल गईं ,पर चेहरा झिलमिल था कहीं ! मेरी कब्र भी मुझसे लिपट कर रोई , शायद.... मेरे कातिलों में तू भी शामिल था कहीं !! ―Shikha✍️"

एक सितम तेरे और एक दिल था कहीं,
यादें धुल गईं ,पर चेहरा झिलमिल था कहीं !

मेरी कब्र भी मुझसे लिपट कर रोई , शायद....
मेरे कातिलों में तू भी शामिल था कहीं !!

―Shikha✍️

एक सितम तेरे और एक दिल था कहीं, यादें धुल गईं ,पर चेहरा झिलमिल था कहीं ! मेरी कब्र भी मुझसे लिपट कर रोई , शायद.... मेरे कातिलों में तू भी शामिल था कहीं !! ―Shikha✍️

#सितम#कातिल#कब्र#शायरी#nojoto#nojotohindi#bestpoetry#katil#Shikhasharma#Quote

People who shared love close

More like this