ए नादान दिल ज़रा संभल कर चल कहीं भूल न हो जाए,! ज

"ए नादान दिल ज़रा संभल कर चल कहीं भूल न हो जाए,! जिसको समझ बैठा है तू परस्तिश के फूल कहीं शूल न हो जाए..!! तू चल तो दिया है कांच का दिल लेकर पत्थरों की दुनिया में,! कदम ज़रा आहिस्ता रख ये रिवाज़ों की बस्ती है कहीं धूल न हो जाए..!! यहां चहकती हर आवाज में बुलबुल नजर आती है,! "राज" ज़नाब दिल को ज़रा थाम कर ही रखना कहीं रसूल न हो जाए..!! @darshan राaj.... ✍️"

ए नादान दिल ज़रा संभल कर चल 
कहीं भूल न हो जाए,! 
जिसको समझ बैठा है तू परस्तिश के फूल
कहीं शूल न हो जाए..!!

तू चल तो दिया है कांच का दिल लेकर
पत्थरों की दुनिया में,!
कदम ज़रा आहिस्ता रख ये रिवाज़ों की बस्ती है
कहीं धूल न हो जाए..!!
 
यहां चहकती हर आवाज में बुलबुल
नजर आती है,! "राज"
ज़नाब दिल को ज़रा थाम कर ही रखना 
कहीं रसूल न हो जाए..!!

                       @darshan राaj.... ✍️

ए नादान दिल ज़रा संभल कर चल कहीं भूल न हो जाए,! जिसको समझ बैठा है तू परस्तिश के फूल कहीं शूल न हो जाए..!! तू चल तो दिया है कांच का दिल लेकर पत्थरों की दुनिया में,! कदम ज़रा आहिस्ता रख ये रिवाज़ों की बस्ती है कहीं धूल न हो जाए..!! यहां चहकती हर आवाज में बुलबुल नजर आती है,! "राज" ज़नाब दिल को ज़रा थाम कर ही रखना कहीं रसूल न हो जाए..!! @darshan राaj.... ✍️

#a
#alonesoul
#alone #Life #Nojoto #nojotoshayari #gazal #ग़ज़ल #Love #Dard
रसूल= खुदा का फरिस्ता
परस्तिश =पूजा
शूल =अधिक पीड़ा

Chandramukhi Mourya Bhagat ™¶पागल¶शायर¶शु¡भ¶ Haquikat 💎

People who shared love close

More like this