तुम चाँद से पूछो कभी, आकाश मे रहना कैसा है। हर रो | हिंदी शायरी

"तुम चाँद से पूछो कभी, आकाश मे रहना कैसा है। हर रोज बदलना पड़ता है, तारों का संग कुछ ऐसा है। ©वैभव The अग्रवाल's"

तुम चाँद से पूछो कभी, 
आकाश मे रहना कैसा है।
हर रोज बदलना पड़ता है, 
तारों का संग कुछ ऐसा है। 
©वैभव The अग्रवाल's

तुम चाँद से पूछो कभी, आकाश मे रहना कैसा है। हर रोज बदलना पड़ता है, तारों का संग कुछ ऐसा है। ©वैभव The अग्रवाल's

#Moon #shayri #wordsofinstagram #VaibhavTheAgarwals #वैभवअग्रवाल

People who shared love close

More like this