कितनी खामोश है ये शाम आज फिर लग रहा है जैसे कोई

कितनी खामोश है 
ये शाम आज फिर
लग रहा है जैसे कोई 
 रूठकर बैठ  हो ।

कितनी खामोश है ये शाम आज फिर लग रहा है जैसे कोई रूठकर बैठ हो ।

#Shaam#Khamoshi#mylife

People who shared love close

More like this