"हाय..... कितना #मासूम था उनका..." Poetry By Aman Singh Sonu | Nojoto

हाय..... कितना #मासूम था उनका बात करने का #लहजा धीरे से #जान कह के #बेजान कर दिया😘💕 हाय..... कितना #मासूम था उनका बात करने का #लहजा धीरे से #जान कह के #बेजान कर दिया😘💕. Follow Aman Singh Sonu . Download Nojoto App to get real time updates about Aman Singh Sonu & be part of World's Largest Creative Community to share Writing, Poetry, Quotes, Art, Painting, Music, Singing, and Photography; A Creative expression platform. Poetry By Aman Singh Sonu | Nojoto Poetry on Poetry, जान, लहजा, मासूम, बेजान. Poetry Poetry, जान Poetry, लहजा Poetry, मासूम Poetry, बेजान Poetry

Story

3 months ago

हाय.....
कितना #मासूम था
उनका बात करने का #लहजा

धीरे से #जान कह के
#बेजान कर दिया😘💕

हाय.....
कितना #मासूम था 
उनका बात करने का #लहजा

धीरे से #जान कह के
 #बेजान कर दिया😘💕

People who shared love close

×
add
arrow_back Select Collection SHARE
language
 
Create New Collection

Upload Your Video close