पलकों के बिचोनो को धोएं नहीं। वो समजते रहे की हम | हिंदी शायरी

"पलकों के बिचोनो को धोएं नहीं। वो समजते रहे की हम रोएं नहीं वो पूछते ह की ख्वाबों में किसे याद करते हों? उसे कोन बताएं कि हम मुदतो से सोए नहीं। #A_D"

पलकों के बिचोनो को धोएं नहीं।
वो  समजते रहे की हम रोएं नहीं
वो पूछते ह की ख्वाबों में किसे याद करते हों?
उसे कोन बताएं कि हम मुदतो से सोए नहीं।
#A_D

पलकों के बिचोनो को धोएं नहीं। वो समजते रहे की हम रोएं नहीं वो पूछते ह की ख्वाबों में किसे याद करते हों? उसे कोन बताएं कि हम मुदतो से सोए नहीं। #A_D

#Sb_mahadev_ki_maya_h
#matwala_damruwala
#A_D

People who shared love close

More like this