मुझे रुला कर सोना तो तुम्हारी आदत बन गई है, अगर मे | हिंदी शायरी और ग़ज़

"मुझे रुला कर सोना तो तुम्हारी आदत बन गई है, अगर मेरी आँख न खुली तो तुम तड़पोगे बहुत। कोई नहीं आएगा मेरी जिदंगी में तुम्हारे सिवा, बस एक मौत ही है जिसका मैं वादा नहीं करता। ऐ मौत तुझे भी गले लगा लूँगा जरा ठहर जा, अभी है आरज़ू सनम से लिपट जाने की। जनाजा रोक कर मेरा वो इस अंदाज से बोले, गली हमने कही थी तुम तो दुनिया छोड़े जाते हो। - 😘 ©Akhilesh,,$S "

मुझे रुला कर सोना तो तुम्हारी आदत बन गई है, अगर मेरी आँख न खुली तो तुम तड़पोगे बहुत। कोई नहीं आएगा मेरी जिदंगी में तुम्हारे सिवा, बस एक मौत ही है जिसका मैं वादा नहीं करता। ऐ मौत तुझे भी गले लगा लूँगा जरा ठहर जा, अभी है आरज़ू सनम से लिपट जाने की। जनाजा रोक कर मेरा वो इस अंदाज से बोले, गली हमने कही थी तुम तो दुनिया छोड़े जाते हो। - 😘 ©Akhilesh,,$S

# shayari Mera Ehsas🙋😘🙏

People who shared love close

More like this

Trending Topic