"मैं आँखों में अश्क़, सीने में प..." Poetry By Abhishek Sharma | Nojoto

मैं आँखों में अश्क़, सीने में प्यास लिए बैठा हूँ। ये प्यास है विजय की, मैं सफ़लता का राज़ लिए बैठा हूँ। मुझे मत ललकार ऐ पंडित, मैं नम आँखों में सपने और दिल में सपनो को मुक़म्मल करने की आग लिए बैठा हूँ। ❤️ #nojoto #kavishala. Follow Abhishek Sharma. Download Nojoto App to get real time updates about Abhishek Sharma & be part of World's Largest Creative Community to share Writing, Poetry, Quotes, Art, Painting, Music, Singing, and Photography; A Creative expression platform. Poetry By Abhishek Sharma | Nojoto Poetry on Poetry, Nojoto, kavishala. Poetry Poetry, Nojoto Poetry, kavishala Poetry

Story

3 months ago

#nojoto #kavishala

मैं आँखों में अश्क़, सीने में प्यास लिए बैठा हूँ।
ये प्यास है विजय की, मैं सफ़लता का राज़ लिए बैठा हूँ।
मुझे मत ललकार ऐ पंडित,
मैं नम आँखों में सपने और दिल में सपनो को मुक़म्मल करने की आग लिए बैठा हूँ।  ❤️

People who shared love close

Abhishek Sharma

Written By : Abhishek Sharma

×
add
close Create Story Next

Tag Friends

camera_alt Add Photo
person_pin Mention
arrow_back Select Collection SHARE
language
 
Create New Collection

Upload Your Video close