धूप निकली है बाहर, तुम निकलकर तो देखो, नींद आ जाये

धूप निकली है बाहर,
तुम निकलकर तो देखो,
नींद आ जायेगी तुमको,
करवट बदलकर के तो देखो,
यूँ कब तक ख़ुद को जलाओगे तुम,
रूठकर ज़िन्दगी से क्या पाओगे तुम,
ये न मंज़िल आख़िरी थी,
न रास्ता आख़िरी था,
तुम एक बार फिर से खुद को,
सपने दिखाकर तो देखो,
ज़िन्दगी तुम्हें ख़ुद नज़र आएगी
आईने में एक बार मुस्कुराकर तो देखो।

धूप निकली है बाहर, तुम निकलकर तो देखो, नींद आ जायेगी तुमको, करवट बदलकर के तो देखो, यूँ कब तक ख़ुद को जलाओगे तुम, रूठकर ज़िन्दगी से क्या पाओगे तुम, ये न मंज़िल आख़िरी थी, न रास्ता आख़िरी था, तुम एक बार फिर से खुद को, सपने दिखाकर तो देखो, ज़िन्दगी तुम्हें ख़ुद नज़र आएगी आईने में एक बार मुस्कुराकर तो देखो।

'जिंदा रखो जिंदगी को.... ' #Poetry #Nojoto #DontloseHope #thought

People who shared love close

More like this