अंदाजे-बयां की क्या बात करे!साहब जब आगाज़ हमारा बे-

अंदाजे-बयां की क्या बात करे!साहब
जब आगाज़ हमारा बे-मिसाल है तो..
अंज़ाम-ए-महफ़िल की परवाह किसे है।
चलता रहेगा कांरवा ये गज़ल का क़यामत तक
कि अभी तो शुरू हुआ है सफ़र मीर-ए-फ़जल का
साक़ी देना दाद हर क़ातिबे-शेर पर
के रँवा है ये महफ़िल दोनों के रहमों-करम से

अंदाजे-बयां की क्या बात करे!साहब जब आगाज़ हमारा बे-मिसाल है तो.. अंज़ाम-ए-महफ़िल की परवाह किसे है। चलता रहेगा कांरवा ये गज़ल का क़यामत तक कि अभी तो शुरू हुआ है सफ़र मीर-ए-फ़जल का साक़ी देना दाद हर क़ातिबे-शेर पर के रँवा है ये महफ़िल दोनों के रहमों-करम से

महफ़िल-ए-गज़ल #NojotoGurgaon
# @Darpana Singh @Madhu Kaur @Saloni Singh @Dalchand @Riya Mathur

People who shared love close

More like this