ख़ामुशी से हज़ार ग़म सहना कितना दुश्वार है ग़ज़ल क

"ख़ामुशी से हज़ार ग़म सहना कितना दुश्वार है ग़ज़ल कहना"

ख़ामुशी से हज़ार ग़म सहना
कितना दुश्वार है ग़ज़ल कहना

ख़ामुशी से हज़ार ग़म सहना कितना दुश्वार है ग़ज़ल कहना

#Nojoto

People who shared love close

More like this