रिश्ते की शुरुआत गर बेशर्त छुट्टी(स्वीकार) के भाव | हिंदी कविता

"रिश्ते की शुरुआत गर बेशर्त छुट्टी(स्वीकार) के भाव से होती है... फिर तो छुट्टी-ही-छुट्टी होती है... दोस्तों, इस शीर्षक पर डिटेल में लिखेंगे फिर कभी... फिलहाल तो यहाँ से छुट्टी करते हैं अभी-के अभी! धन्यवाद @बधाई हो छुट्टी की प्यारी मुक्की👊😇 की🙏"

रिश्ते की शुरुआत गर बेशर्त छुट्टी(स्वीकार) के भाव से होती है...
फिर तो छुट्टी-ही-छुट्टी होती है...
दोस्तों,
इस शीर्षक पर डिटेल में लिखेंगे फिर कभी...
फिलहाल तो यहाँ से छुट्टी करते हैं अभी-के अभी!
धन्यवाद
@बधाई हो छुट्टी की प्यारी मुक्की👊😇 की🙏

रिश्ते की शुरुआत गर बेशर्त छुट्टी(स्वीकार) के भाव से होती है... फिर तो छुट्टी-ही-छुट्टी होती है... दोस्तों, इस शीर्षक पर डिटेल में लिखेंगे फिर कभी... फिलहाल तो यहाँ से छुट्टी करते हैं अभी-के अभी! धन्यवाद @बधाई हो छुट्टी की प्यारी मुक्की👊😇 की🙏

#Relationship #BadhaiHoChuttiKi
रिश्ते की शुरुआत
गर बेशर्त छुट्टी(स्वीकार) के भाव से होती है...
फिर तो छुट्टी-ही-छुट्टी होती है...
दोस्तों,
इस शीर्षक पर डिटेल में लिखेंगे फिर कभी...
फिलहाल तो यहाँ से छुट्टी करते हैं अभी-के अभी!
धन्यवाद
@बधाई हो छुट्टी की प्यारी मुक्की👊😇 की🙏
#Humour #ShortStory #Inspiration #philosophy #psychology #Life #Love #story #Shayari #Art #

People who shared love close

More like this